कानपुर: नींद में सोया रेलवे प्रशासन, सेंट्रल स्टेशन पर गंदगी और पानी की किल्लत से जनता परेशान

डीएन संवाददाता

रेलवे प्रशासन लाख दावे कर ले सेंट्रल स्टेशन की स्थिति को सुधारने की लेकिन उनके दावे खोखले नज़र आने लगे हैं। पढ़िए डाइनामाइट की इस रिपोर्ट में..

कानपुर सेंट्रल स्टेशन प्लेटफार्म नंबर 1 पर फैली गंदगी

कानपुर: कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर 1 पर हर तरफ गंदगी फैली हुई है। रेलवे प्रशासन का दावा है कि वह स्टेशन को साफ सुथरा रखने के लिए लाख प्रयास कर रही हैं लेकिन सेंट्रल स्टेशन के प्लेटफार्म पर फैली गंदगी रेलवे प्रशासन की पोल खोल रही है।

पानी की किल्लत से परेशान लोग

गंदगी की बात की जाए तो स्टेशन के प्लेटफ़ॉर्म पर हर जगह ऐसा ही हाल है। लोगों का यहां बैठना तक दूभर है। स्टेशन पर गंदगी को लेकर कई बार मुहिम छेड़ी जा चुकी है। एक दो दिन तो सभी कर्मी स्टेशन को चमकाने में जुट जाते है वहीं जैसे ही कुछ समय बीतता है फिर वही पुराना हाल हो जाता है।

पानी की किल्लत से यात्री हुए हलकान

ऐसी गर्मी और स्टेशन पर पानी को लेकर अफरातफरी का माहौल हो तो क्या होगा। प्लेटफ़ॉर्म नंबर 1 पर यात्री पानी के लिए जद्दोजहद में लगे हुए हैं। एक के ऊपर एक यात्री धक्कामुक्की करते हुए ये सोच कर आगे बढ़ गए हैं कि किसी भी तरह पानी मिल जाए। इस दौरान स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर पानी के नल खुले पाए गए। खुलेआम पानी नलों से बह रहा है। पानी कितना जरूरी है लेकिन किसी ने बहते हुए पानी के नल को बंद करना उचित नही समझा। स्टेशन की इन व्यवस्थाओं को न तो कोई देखने वाला है न ही कोई सुनने वाला। ऐसे में स्टेशन की तस्वीर को बदलने की मुहिम को कैसे बदला जाएगा ये तो देखने वाली बात होगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार