महबूबा मुफ्ती बोलीं- जम्मू-कश्मीर में नहीं चलेगी सख्ती, नहीं होगा किसी से गठबंधन

डीएन ब्यूरो

भाजपा द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद महबूबा मुफ्ती ने कहा कि उनकी पार्टी किसी से गठबंधन नहीं करेगी। पूरी खबर..

मीडिया से बात करती महबूबा मुफ्ती
मीडिया से बात करती महबूबा मुफ्ती

नई दिल्ली: भाजपा द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि उनकी पार्टी किसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा और पीडीपी की अलग-अलग विचारधारा है। उन्होंने कहा कि हमने सत्ता पर काबिज होने के लिये गठबंधन नहीं किया था, हम चाहते थे कि हालात में सुधार हो।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: भाजपा ने पीडीपी से वापस लिया समर्थन, राष्ट्रपति शासन की सिफारिश 

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सख्ती नीति नहीं चलेगी। हम पाकिस्तान के साथ बातचीत के साथ आगे बढ़ना चाहते थे। उन्होंने यह भी साफ किया कि सरकार के जरिये वह कश्मीर में अपना एजेंडा लागू करवाने में सफल रही हैं। 

मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर के लोगों से हर हाल में बातचीत होनी चाहिए। कश्मीर के अलावा पाकिस्तान से बातचीत होनी चाहिए, हमारी हमेशा से यही नीति रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को लेकर डरे हुए थे लेकिन हम उसे लेकर डटे रहे।

मुफ्ती ने कहा कि गठबंधन के बाद भाजपा और पीडीपी को एक साथ काम करने के लिए माहौल बनाने में काफी समय लगा। इस गठबंधन को बड़े मकसद के साथ किया गया था। 

मुफ्ती के इस्तीफे के बाद यदि जम्मू कश्मीर में अगले कुछ दिनों में वहां किसी की सरकार नहीं बनती है तो वहां राष्ट्रपति शासन लागू हो जायेगा। इस हालात में वहां अगले साल के शुरूआत में चुनाव हो सकते हैं।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार