IPS हिमांशु कुमार सस्पेंड, योगी सरकार पर लगाया था जातिवाद का आरोप

डीएन ब्यूरो

योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही वह एक्शन में हैं। योगी बिल्कुल भी अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं करेंगे। इसी बीच अब हाल ही में तबादलों पर सवाल खड़े करने वाले आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।

IPS हिमांशु कुमार सस्पेंड
IPS हिमांशु कुमार सस्पेंड

लखनऊ: यूपी कैडर के आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार को शनिवार को सस्पेंड कर दिया गया है। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद भारी संख्या में यादवों के तबादले किए जाने का उन्होंने आरोप लगाया था। सस्पेंड होने की सूचना मिलने के बाद उन्होंने अपने ट्वविटर अकाउंट पर लिखा कि सत्य की जीत होती है।

यह भी पढ़ें: मनचलों ने लेडी IPS के मुंह पर छोड़ दिया सिगरेट का धुंआ, आगे क्या हुआ पढ़िए..

आईपीएस का निलंबन उनकी पत्नी की तरफ से दर्ज कराए गए दहेज उत्पीड़न के मामले को आधार बनाकर की गई है। आईपीएस हिमांशु इस मुक़दमे में वांछित चल रहे हैं। 2 मार्च को उनके खिलाफ बिहार की एक अदालत से वॉरंट जारी हुआ था। हिमांशु कुमार वही आईपीएस अफसर हैं जिन्होंने हाल में ही योगी राज में यादव सरनेम वाले अफसरों को टारगेट करने और उनके ट्रांसफर करने का आरोप लगाया था।

यह भी पढ़ें: कारागार राज्य मंत्री का कानपुर पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

गौरतलब है कि चुनाव के दौरान ही आईपीएस हिमांशु कुमार को चुनाव आयोग ने फिरोजाबाद से भी हटाया था। आईपीएस हिमांशु ने 22 मार्च को एक ट्वीट के जरिए यूपी में यादव सरनेम वाले अधिकारियों को टारगेट करने का मुद्दा उठाया था। हिमांशु ने ट्वीट कर कहा था, 'वरिष्ठ अधिकारियों में 'यादव' सरनेम वाले पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड करने या रिजर्व लाइन भेजने के लिए होड़ मची है।'

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार