संकट में महराजगंज: बाढ़ से सैकड़ों लोग बेघर,कई क्षेत्र जलमग्न

डीएन संवाददाता

महराजगंज में बाढ़ से भयावह स्थिति पैदा हो गई है। त्रिमोहनी नदी का बांध टूटने से चेहरी गांव और इंजीनियरिंग कालेज पानी से जलमग्मन हो गया। मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। राहत और बचाव का कार्य जारी है।

राहत और बचाव कार्य
राहत और बचाव कार्य

महराजगंज: रोहिन और जर्दी डोमरा का बांध टूटने से पनियरा में सैकड़ों लोग बेघर को चुके हैं और बाढ़ का तांडव जारी है। एनडीआरएफ और स्थानीय पुलिस अब तक बाढ़ से प्रभावित करीब 200 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा चुकी है। राहत और बचाव के कार्य जारी है। राहत कार्य के लिए 5 स्टीमर और 3 प्राइवेट नावों को लगाया गया है। लोगों का मानना है कि बाढ़ की स्थिती को देखते हुए त्रिमोहनी बांध टूट भी सकता है जिससे चेहरी और महराजगंज के कई गांव इसकी चपेट में आकर डूब भी सकते हैं। स्थिति काफी भयावह बनी हुई है।

यह भी पढ़ें -महराजगंज: सांसद पंकज चौधरी पहुंचे बाढ़ग्रस्त इलाकों में, किया डोमरा-जर्दी बंधे का निरीक्षण

 

त्रिमुहानी नदी के बांध से रिसाव होने से चेहरी गांव में हड़कंप मचा हुआ है। आला अधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं। 

 

 

यह भी पढ़ें: त्रिमोहनी नदी का बांध टूटने से कई इलाके जलमग्न

महराजगंज के सीओ सदर मुकेश प्रताप सिंह ने डाइनामाइट न्यूज से खास बातचीत के दौरान बताया कि एनडीआरएफ और पुलिस की टीम कल देर रात से ही राहत और बचाव कार्यों में जुटी हुई थी। प्रभावित लोगों को स्टीमर और नाव के जरिये ऊंचे और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सुजीतपुर, बढ़हरालाला और अनंतपुर नियेही में बाढ़ का ज्यादा प्रकोप है। सीओ सदर ने बताया कि सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाये गये लोगों को खाने और रहने के लिए जरूरी सामान मुहैया कराया जा रहा है।

 

पनियरा मे रोहिन नदी पर चार जगह बांध टूट जाने से जनता बेघर हो चुकी है। डोमरा व बघौना तेनदुअहिया रिंग बांध टूटने से गांव वालों में भगदड़ मच गई है। प्रशासन द्वारा रेस्क्यु का काम युद्ध स्तर पर जारी है, मौके का निरीक्षण करने महराजगंज के सांसद पंकज चौधरी भी पहुँचे। इसके अलावा मौके पर थानेदार पनियरा समेत आला प्रशासन भी मौजूद है। बचाव कार्यों पर नजर रखी जा रही है।

 

डीएम ने बाढ़ राहत के कार्यों की समीक्षा के लिए एक बैठक भी की।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार