दोहरे संकटों से घिरा बिहार, बाढ के साथ महामारी का भी कहर, चार दिन में पांच नेताओं की कोरोना से मौत

डीएन ब्यूरो

बिहार पिछले कुछ दिनों से बाढ के भयंकर कहर से जूझ रहा है लेकिन अब कोरोना की बढती महामारी यहां दोहरी आफत बन गया है। पूरी खबर..

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

पटना: बाढ की भयंकर त्रासदी से जूझ रहे बिहार में कोरोना की महामारी यहां के लोगों के लिये दोहरे अभिशाप की तरह बन गया है। राज्य के कई जिले बाढ की चपेट में हैं इसी बीच वहां कोरोना महामारी का कहर भी लगातार बढता जा रहा है, जो बेहद चिंताजनक है।

कोरोना महामारी के राज्य में शुक्रवार को दो नेताओं की मौत हो गयी। इन दो नेताओं की मत के साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वाले नेताओं की संख्या पांच हो गयी है। सभी नेताओं की मौत चार दिन के अंदर हुई है।

शुक्रवार को जिन दो नेताओं की मौत हुई, उनमें अररिया जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष विजय कुमार यादव और नालंदा के सिलाव उत्तरी से जिला परिषद सदस्‍य कैप्टन सुनील कुमार है। इन दोनों नेताओं की भी इलाज के दौरान मौत हुई।

इससे पहले कोरोना के कारण जिन नेताओं की जान गयी, उनमें जनता दल यूनाइटेड नेता एवं विधान परिषद सदस्य मनोरमा देवी के पति बिंदेश्वरी यादव, राष्‍ट्रीय जनता दल नेता राजकिशोर यादव, दरंभगा के भारतीय जनता पार्टी के विधान पार्षद सुनील कुमार सिंह शामिल हैं। 

बाढ के बीच तेजी से पांव पसारती कोरोना महामारी और इससे हो रही मौतों ने बिहार के बड़े में संकट में फंसा दिया है, जो सभी के लिये चिंताजनक है।
 













संबंधित समाचार