एसिड अटैक पीड़िता के सामने सेल्फी लेना महिला कांस्टेबलों को पड़ा महंगा, क्या है मामला पढ़िए..

डीएन ब्यूरो

लखनऊ के केजीएमसी हॉस्पिटल में पुलिसकर्मियों की असंवेदनशीलता का मामला सामने आया है। हॉस्पिटल के आईसीयू में एसिड अटैक पीड़िता की ड्यूटी में तैनात तीन महिला पुलिसकर्मी पीड़िता के सामने ही सेल्फी ले रहीं थी। पुलिसकर्मियों की फोटो सामने आने के बाद तीनों को सस्पेंड कर दिया गया है।

सेल्फी लेते हुए महिला पुलिस कर्मी
सेल्फी लेते हुए महिला पुलिस कर्मी

लखनऊ: केजीएमसी अस्पताल से ऐसी खबर आई है जिसे पढ़ने के बाद हर कोई हैरान है। दरअसल, एक एसिड अटैक विक्टिम जो कि अस्पताल के बेड पर जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रही है उसकी सुरक्षा में तीन महिला कांस्टेबल को लगाया गया था। सुरक्षा में तैनाती के दौरान महिला कांस्टेबल्स के सेल्फी लेने का मामला सामने आया है। यह वाकया शुक्रवार को लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर का है। रेप पीड़िता की सुरक्षा में तैनात महिला कांस्टेबल को ये सेल्फी लेना ज्य़ादा ही महंगा पड़ा गया और देर रात उनको सीएम के आदेश के बाद सस्पेंड कर दिया गया है।

क्या है पूरा मामला

रायबरेली के ऊंचाहार की रहने वाली पीड़िता जब गंगा-गोमती एक्सप्रेस से अपने घर से वापस लखनऊ लौट रही थी तो दो लोगों ने उन्हें जबरन ऐसिड पिलाने का प्रयास किया था। इस घटना के बाद पीड़िता को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया। इस घटना को यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी ने काफी गंभीरता से लिया था और शुक्रवार सुबह ही वह पीड़िता की हालत का जायजा लेने के लिए भी अस्पताल पहुंचे थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …