फतेहपुर: रजिस्ट्रेशन के बिना हो रहा अस्पताल का संचालन, सीएमओ बोले- करेंगे कार्यवाही

डीएन संवाददाता

स्वास्थ्य विभाग भले ही अवैध तरीके से संचालित होने वाले स्वास्थ्य केंद्रों को लेकर हमेशा सतर्क रहने के दावे करता हो लेकिन हकीकत यह है कि कानून को ठेंगा दिखाते हुए जिले में कई ऐसे अस्पताल मौजूद है जो बिना पंजीकरण के चल रहे हैं। पूरी खबर..


फतेहपुर: स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की सख्ती के बाद भी जिले में अवैध तरीके से नर्सिंग होम और अस्पतालों का संचालन धड़ल्ले से हो रहा है। ऐसे अस्पतालों में इलाज के नाम पर न केवल भोली-भाली जनता को ठगा जाता है बल्कि मरीजों को कई तरह के जोखिम भी उठाने पड़ते है। स्वास्थ्य विोभाग के नाक के नीचे ही जिले में इस तरह अवैध हॉस्पिटल के संचालन का मामला सामने आया है।

 

 

जिले के थरियांव में खुला नैन्सी हॉस्पिटल का मामला भी ऐसा ही है। यह हॉस्पिटल बिना किसी रजिस्ट्रेशन के संचालित हो रहा है। आठ बेड के इस अस्पताल में मरीजों की ज़िंदगी के साथ धड़ल्ले से खिलवाड़ किया जा रहा है। कुछ लोगों का मानना है कि स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से जनता के इलाज के नाम पर यह काला कारनामा किया है जा रहा है।

अस्पताल के बारे में मिली शिकायत को लेकर जब इस अस्पताल के संचालक विनय से डाइनामाइट न्यूज़ ने बातचीत की तो उनका कहना था कि सीएमओ ऑफिस के  कर्मचारी से पूछकर ही वह अस्पताल चल रहा है। 

 

 

डाइनामाइट न्यूज़ ने जब इस बारे में मुख्य चिकित्साधिकारी वीएन पांडेय से बात की तो उनका कहना था कि स्वास्थ्य विभाग की अनुमति के बिना जिले में किसी भी अस्पताल का संचालन संभव नहीं है। उनसे जब नैन्सी हॉस्पिटल के बारे में बात की गयी तो पांडेय ने कहा कि यह उनके संज्ञान में नहीं है, यदि यह सच है तो हम मामले को संज्ञान में लेते हुऐ अस्पताल के खिलाफ़ उचित कार्यवाही करेंगे। 

जानकारी मिलते ही अस्पताल संचालक को स्पष्टीकरण देने का नोटिस दे दिया गया है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार