फतेहपुर: 42 हजार करोड़ के पोषाहार घोटाले की जांच कराए योगी सरकार

डीएन संवाददाता

महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ उप्र के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश कुमार पाण्डेय ने डाइनामाइट न्यूज़ से खास बातचीत करते हुए कहा कि सीएम योगी राज्य में हुए 42 करोड़ हजार के पंजीरी घोटाले की जांच करायें।


फतेहपुर: नहर कॉलोनी में 40 दिनों से चल रहे आंगनबाड़ी सहायिकाओं के धरने को संबोधित करते हुए आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ उप्र के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश कुमार पांडेय ने केंद्र और यूपी सरकार की कार्यप्रणाली पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा जब तक सरकार हमारी मांगे नहीं मानती, तब तक हमारा धारना समाप्त नहीं होगा। केंद्र और राज्य की सरकार को अब आंगनबाड़ी सहायिकाओं की असली ताकत अब जल्द समझ में आयेगी। 

 

 

उन्होंने आंगनबाड़ियों को मिलने वाले पोषाहार के घोटाले की बात भी कही। उन्होंने कहा कि ICDS के पूर्व निदेशक आनन्द कुमार ने चार वर्षों में 42 हज़ार करोड़ का पंजीरी (पोषाहार) घोटाला किया है। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में लिखा था कि दो हज़ार रुपये के घोटाले की भी सीबीआआई जांच कराई जायेगी, लेकिन अभी तक इस घोटाले की जांच के लिये भाजपा ने कोई कार्यवाही शुरू नहीं की।

उन्होंने कहा कि 4 दिसंबर को थाली नाद होगा, 5 दिसंबर को मशाल जुलूस निकाला जाएगा, 6 को पद यात्रा कर जिलाधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन, 7 से क्रमिक अनशन और 11 दिसंबर से अनिश्चतकालीन आमरण अनशन होगा। सरकार जब तक हमारी 13 सूत्री मांगों को नहीं मानेगी तब तक धरना समाप्त नहीं होगा। धरने के दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष सुनन्दा तिवारी सहित जिले के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …