दो माह बाद जहाजों ने भरी उड़ान, यूपी जाने वाले पैसेंजर्स को करना होगा इन निर्देशों का पालन

डीएन ब्यूरो

कोविड-19 संक्रमण और लॉकडाउन के लगभग दो माह बाद आज से देश में हवाई सेवाएं शुरू हो गयी है। पहले दिन लोगों में काफी उत्साद देखने को मिला। उत्तर प्रदेश जाने वाले यात्रियों के कुछ जरूरी निर्देशों का पालन करना होगा। जानिये, जरूरी गाइडलाइंस..

दिल्ली-भुवनेश्वर फ्लाइट में उडान के लिये तैयार पैसंजर्स
दिल्ली-भुवनेश्वर फ्लाइट में उडान के लिये तैयार पैसंजर्स

नई दिल्ली: कोविड-19 संकट से निपटने के लिये जरूरी लॉकडाउन के चलते ठप्प पड़ी हवाई यात्रा आज से शुरू हो चुकी है। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, स्वास्थ्य मंत्रालयों, राज्य सरकारों आदि द्वारा हवाई यात्रा के लिये जरूरी दिशा निर्देश जारी किये है,जिनका पालन किया जाना अनिवार्य है।

लगभग दो माह बाद सोमवार को शुरू हुई हवाई सेवाओं के पहले दिन लोगों में काफी उत्साद देखा गया। हालांकि पहले दिन कुछ फ्लाइट्स के कैंसल होने की भी रिपोर्ट है। राजधानी नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट से भुवनेश्वर के लिए पहली फ्लाइट 6 बजकर 50 मिनट पर रवाना हुई। इस दौरान फ्लाइट में बैठने से पहले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग हुई। सभी यात्रियों को एयरलाइन की तरफ से फेस कवर मास्क दिए गए। हालांकि दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर 4 बजकर 45 मिनट पर पुणे के लिए सबसे पहली फ्लाइट रवाना होनी थी लेकिन मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इस फ्लाइट की रवानगी का पता न चल पाया। 

पहले चरण में सामान्य समय की अपेक्षा कम फ्लाइट्स का संचालन किया जा रहा है। जिन्हें चरणबद्ध तरीके से बढाया जायेगा। केवल पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के लिये सोमवार से हवाई सेवाएं शुरू नही होगी। अब महाराष्ट्र सरकार द्वारा भी इसकी इजाजत दे दी गयी है। हालांकि मुंबई में फ्लाइट्स की संख्या काफी कम कर दी गयी है। आंध्र प्रदेश में 26 मई और पश्चिम बंगाल में 28 मई से हवाई सेवाएं शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

कोरोना वायरस के बढते संक्रमण के खतरों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के लिये हवाई यात्रा करने वालों के लिये खास निर्देश दिये गये है। जो यात्री उत्तर प्रदेश पहुंचेंगे, उन्हें 14 दिन के क्वांरंटीन पर जाना होगा। छटे दिन भी इन लोगों की जांच की जायेगी। यदि छटे दिन की जांच में ये लोग नेगेटिव पाये जाते हैं तो ही उन्हें क्वांरंटीन से मुक्त किया जायेगा। जिन लोगों के पास होम क्वांरटीन की सुविधा नहीं होगी, ऐसे लोगों के लिये सरकार द्वारा उचित व्यस्था उपलब्ध कराई जायेगी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार