भाजपा नेताओं ने सीएम योगी को सुनाया अपना दुखड़ा, कहा-पुलिस और अफसर उनकी नहीं सुनते

डीएन संवाददाता

सुल्तानपुर में बीजेपी नेता अपनी शिकायतों को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के जनता दरबार में पहुंचे और उन्होंने सीएम से बताया कि सूबे की पुलिस से लेकर अफसर तक शिकायतें नहीं सुनते।

बीजेपी कार्यकर्ता सीएम को अपनी समस्या बताते हुए
बीजेपी कार्यकर्ता सीएम को अपनी समस्या बताते हुए

सुल्तानपुर: यूपी के सुल्तानपुर जिले की पुलिस से लेकर अफसर तक बीजेपी MLA से लेकर ज़िलाध्यक्ष तक की नहीं सुन रहे, वो भी तब जब सूबे में उनकी सरकार है। ये अखरने वाली बात भी है। इन्हीं सब शिकायतों और जिले के विकास को लेकर बीजेपी जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में 9 सदस्यों के एक प्रतिनिधि मंडल ने एनेक्सी भवन में सीएम से मुलाकात की। जिसमें जिले के MLA भी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: यूपी में योगी का एक और सुपरस्ट्रॉक, 50 साल की उम्र के बाद काम नहीं कर पाएंगे ऐसे ब्यूरोक्रेट्स

बेनतीजा थी प्रभारी मंत्री की मीटिंग तो उठाना पड़ा ये क़दम

सूबे का निज़ाम जरूर बदला लेकिन जिले की कानून व्यवस्था से लेकर चिकित्सा और प्रशासनिक व्यवस्था जस की तस रही। इस पर आए दिन सत्तारूढ़ दल सवालों के घेरे में रही। प्रभारी मंत्री जयप्रताप सिंह से भी पार्टी के जिम्मेदारों ने जिले और दिल का हाल बया किया। उन्होंने डीएम-एसपी के साथ मीटिंग किया जो बेनतीजा रही।

यह भी पढ़ें: रमापति शास्त्री ने कहा, कुछ इस तरह होगा राम मंदिर का निर्माण

जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में MLA समेत 9 सदस्यीय टीम ने की मुलाकत

इसके बाद बीजेपी के नेताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से रुबरु होकर जिले के अधिकारियों की कारस्तानी बताने का मन बना लिया। जिलाध्यक्ष जगदीश सिंह के नेतृत्व में 9 सदस्यीय टीम ने एनेक्सी में सीएम से मुलाकत की। जिसमें एमएलए सूर्यभान सिंह, एमएलए राजेश गौतम, एमएलए सीताराम वर्मा और एमएलए देवमणि दूबे के साथ पार्टी के सदस्य शामिल हुए।

सीएम हुए सख्त उचित कार्यवाई का दिलाया भरोसा

बीजेपी नेताओं और एमएलए की सीएम से हुई बातचीत के संदर्भ में बीजेपी के ज़िला प्रवक्ता विजय सिंह रघुवंशी ने जानकारी देते हुए बताया कि सीएम को ज़िले की कानून व्यवस्था, यहां के विकास कार्यों के साथ-साथ 90 किलोमीटर लम्बे हलियापुर-बेलवाई मार्ग की बदहाली के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। उन्होंने बताया कि पुलिस लाइन के पास बन रहे ओवर ब्रिज के निर्माण में आई समस्या और जिले के ऐतिहासिक महत्व के बारे में उन्हें अवगत कराया गया है। जिस पर सीएम सख्त हुए और उन्होंने उचित कार्यवाई का भरोसा दिलाया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार