DN Exclusive: मौत के कारोबार को बहराइच पुलिस की शह

डीएन संवाददाता

जिले के तेज तर्रार कप्तान एसपी जुगुल किशोर को शायद इस काले कारोबार की जानकारी न हो, लेकिन यह सच है कि यह धंधा यहां तेजी से पनप रहा है और इसकी चपेट में आकर कई लोग अकाल मौत के मुंह में जा रहे है।

रुपईडीहा थाना क्षेत्र में स्मैक लेते युवा
रुपईडीहा थाना क्षेत्र में स्मैक लेते युवा

बहराइच: नेपाल सीमा से सटे रूपईडीहा इलाके में जहर का कारोबार तेजी के साथ फल-फूल रहा है। यहां मौत की पुड़िया के सौदागरों की बड़ी जमात है। यह पूरा क्षेत्र स्मैक की थोक व फुटकर मण्डी बन चुका है। हालांकि समय-समय पर एसएसबी ने कस्बे के कई लोगों को स्मैक सहित पकड़कर जेल भी भेजा है लेकिन जमानत पर वापस आने के बाद ये लोग इसी कारोबार में जुट गये।

स्थानीय लोगों का कहना है कि स्मैक का कारोबार बढ़ने के पीछे की सबसे बड़ी वजह इस क्षेत्र की पुलिस भी है। कस्बे के लोगों का मानना है कि पुलिस की संलिप्ता जहर के इस कारोबार को बढ़ावा दे रही है। पुलिस की शह के कारण स्मैक के थोक डीलर कालर ऊंचा कर मेडिकल स्टोर की आड़ में जहर की पुड़िया बेच रहे है।

 

 

सबसे बडा सवाल उठता है कि जिन मेडिकल स्टोरों पर यह काला कारोबार हो रहा है, उनकी जानकारी पुलिस को भी है लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस के हाथ इस धंधे में संलिप्त लोगों के गिरबान तक नहीं पहुंचते हैं। पुलिस की भूमिका पर यह बड़ा सवालिया निशान काफी लंबे समय से लगा हुआ है।

कस्बे की नई बस्ती, राना पेट्रोल पम्प के आस-पास का इलाका, भट्ठा मोहल्ला, बरथनवा चैराहा, मुस्लिमबाग, रूपईडीहा गांव, हीरो मोटर साइकिल एजेंसी के पीछे का क्षेत्र ही नहीं बल्कि रूपईडीहा से सटे गांव पचपकरी व रंजीतबोझा के युवा भी इस लत के शिकार होते जा रहे है। नेपाली युवकों का इन क्षेत्रों में सुबह से शाम तक स्मैक पीने के लिए मेला लगा रहता है। कुछ दिन पूर्व कस्बे से सटा नेपाली गांव जैसपुर स्मैक का ट्राजिट प्वांट बना हुआ था। नेपाली पुलिस के प्रयास के बाद वहां स्मैक का कारोबार लगभग ठप सा हो गया है। नेपाली पुलिस ने लगभग 30 भारतीय युवकों को स्मैक की तस्करी के आरोप में जेल भी भेजा है। जो नेपालगंज की जेल मे बंद है। इसके बाद अब स्मैक का ट्रांजिट प्वांइट कस्बे का चकीया मोड़ व नईबस्ती बन गया है। 

जिले के तेज तर्रार कप्तान एसपी जुगुल किशोर को शायद इस काले कारोबार की जानकारी न हो, लेकिन यह सच है कि यह धंधा यहां तेजी से पनप रहा है और इसकी चपेट में आकर कई लोग अकाल मौत के मुंह में जा रहे है। बहराइच जिले के रुपईडीहा थाना इलाके के नई बस्ती मोहल्ले व चकीया मोड़ चौराहे पर खुलेआम स्मैक बेचे जाने से पुलिस की भूमिका और भी संदिग्ध हो जाती है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार