जाने कैसे हुई अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरूआत, पूरा इतिहास

डीएन ब्यूरो

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष, 8 मार्च को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष, 8 मार्च को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है।  

पहली बार अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फ़रवरी 1909 न्यूयॉर्क शहर में एक समाजवादी राजनीतिक कार्यक्रम के रूप में आयोजित किया गया था, और इसे संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1975 से मनाना शुरू किया। बाद में इसे फरवरी के आखिरी रविवार को मनाया जाने लगा। इस दिन को महिलाओं की सभी क्षेत्रों में प्राप्त की गई उपलब्धियों को मनाने और लिंग समानाता पर बल देने के लिए मनाया जाता है।

कहा जाता है कि साल 1908 में पंद्रह हजार महिलाओं ने एक साथ मिलकर मतदान करने का अधिकार, काम के बदले बेहतर वेतन और काम के घंटों को कम करने जैसे अधिकारों को लेकर एक रैली निकाली। इसके एक साल बाद सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका के एक घोषणा के अनुसार 28 फरवरी को अमेरिका में पहला राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। जब से लेकर आज तक यह दिन महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार