वाराणसी: आखिरकार हमले के शिकार जल निगम के इंजीनियर की हो ही गयी मौत

डीएन ब्यूरो

लंका-रवींद्रपुरी मार्ग पर पाइप लाइन बिछाने के दौरान दंबगों द्वारा हॉकी-रॉड से हमला करने का कारण बुरी तरह घायल हुए जल बोर्ड के इंजीनियर की इलाज के दौरान दिल्ली के एम्स में मौत हो गयी। पूरी खबर..


वाराणसी: लंका-रवींद्रपुरी मार्ग पर बीते सप्ताह पाइप लाइन बिछवाने के समय रात को कुछ दबंगों द्वारा जल निगम के जेई सुशील कुमार गुप्ता समेत दो ठेकेदारों पर जानलेवा हमला किया गया था। जिसके बाद बुरी तरह घायल इंजीनियर को इलाज के लिये दिल्ली के एम्स में रैफर किया गया था, जहां आखिरकार मंगलवार को इंजीनियर की मौत हो गयी।

यह भी पढ़ें: वाराणसी: जेई और दो ठेकेदारों पर आधी रात में जानलेवा हमला, आक्रोशित कर्मचारी धरने पर बैठे 

 

 

गुप्ता के पार्थिव शरीर को बुधवार को वाराणसी लाया जाएगा। इंजीनियर की मौत की खबर के बाद जल निगम के कर्मचारियों में शोक की लहर दौड़ गयी। आज दुर्गा कुंड स्थित उत्तर प्रदेश जल निगम ऑफिस पर अधिकारियों वह ठेकेदारों द्वारा सुशील कुमार गुप्ता को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान लोगों ने जहां उनकी आत्मा की शांति की ईश्वर से कामना की वहीं दूसरी ओर सरकार से सुशील कुमार गुप्ता के परिवार को एक करोड़ रुपये की मुआवजा देने की मांग की गई। साथ ही सुशील कुमार गुप्ता को शहीद का दर्जा देने की भी मांग की गई। 

​​​​​​​यह भी पढ़ें: वाराणसी: जल निगम ने दी पूरे यूपी में पानी की सप्लाई रोकने और सीवर ठप्प करने की चेतावनी 

गौरतलब है कि बीते मंगलवार की रात को पाइप लाइन बिछवाने का कार्य कर रहे जेई एवं दो ठेकेदारों पर दंबगों ने हॉकी-रॉड से हमला किया, इस हमले में जेई सुशील कुमार गुप्ता बुरी तरह से जख्मी हो गये हैं और उन्हें तत्काल वहां ICU में भर्ती करवाया गया। अगले दिन गंभीर स्थिति को देखते हुए जेई को दिल्ली रैफर किया गया, जहां आज इंजीनियर ने दम तोड़ दिया। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …