लखनऊ फिर शर्मशार: छात्रा को अगवा कर बनाया बंधक, 24 घंटे तक गैंगरेप

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ एक बार फिर शर्मसार हुई है, जहां बीती रात तीन युवकों ने एक छात्रा को अगवा किया और बंधक बनाकर लगातार 24 घंटे तक बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया।

श्रोत: इंटरनेट
श्रोत: इंटरनेट

लखनऊ:  एक बार फिर यूपी में योगी सरकार के महिला सुरक्षा के दावे फेल होते नजर आ रहे हैं। सरकार की नाक के नीचे राजधानी लखनऊ में गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। घटना मोहनलालगंज इलाके की है, जहां कार सवार 3 युवकों ने ग्रेजुएशन की छात्रा का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों में से एक युवक को वह जानती है। उसने फोन करके युवती को अपने पास बुलाया, युवती जब वहां पहुंची तो बदमाशों ने उसके मुंह पर कपड़ा बांधा और अपहरण कर उसको बंधक बना लिया।

बेटी के साथ हुआ गैंगरेप तो सदमे में गई पिता की जान

बहन की आपत्तिजनक फोटो देने के बहाने बुलाया

इंस्पेक्टर धीरेंद्र प्रताप कुशवाहा ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि दरिंदे कई दिन से छात्रा को उसकी बड़ी बहन की आपत्तिजनक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दे रहे थे। शनिवार सुबह करीब 11 बजे उन्होंने छात्रा को फोन किया और उसकी बहन की फोटो देने के बहाने बाईपास पर बुलाया। वहां स्विफ्ट डिजायर सवार बदमाशों ने छात्रा से कार में बैठने को कहा। छात्रा ने बताया कि कार में ड्राइवर के अलावा पिछली सीट पर दो लोग बैठे थे। जैसे ही वह कार में बैठी, बदमाशों ने उसे नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश कर दिया। होश में आने पर छात्रा ने खुद को एक मकान में पाया। उसका मुंह व हाथ बंधा हुआ था। छात्रा ने बताया कि दरिंदों ने उसके साथ कई बार रेप किया। इस बीच छात्रा के परिवारजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की।

यूपी में भाजपा विधायक के आवास पर युवती से गैंगरेप का प्रयास, गनर व नौकर गिरफ्तार

बेसुध छात्रा को बस में बैठाकर भाग निकले बदमाश

रविवार सुबह बेसुध छात्रा को बस में बैठाकर बदमाश भाग निकले। छात्रा किसी तरह घर पहुंची और परिजनों को आपबीती सुनाई। पुलिस ने कार सवार तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ अपहरण व गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर इस मामले की जांच शुरू कर दी है। पीड़िता का मेडिकल जांच कराया जा रहा है। पीड़ित परिजनों के मुताबिक बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी पुलिस ने समय रहते कोई कार्रवाई नहीं की। यदि पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो पीड़िता के साथ ऐसा जघन्य अपराध नहीं होता।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …