राज्‍यसभा से आखिरकार पास हो ही गया ट्रिपल तलाक बिल, नहीं कह पाएंगे अब तलाक-तलाक-तलाक

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

राज्‍य सभा में केंद्र सरकार को एक बड़ी जीत हासिल हुई है। केंद्र सरकार ने बहुप्रतीक्षित बिल तीन तलाक को पास करवा लिया है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढें पूरी खबर..

राज्यसभा की कार्यवाही की तस्वीर
राज्यसभा की कार्यवाही की तस्वीर

नई दिल्‍ली: राज्‍यसभा में केंद्र सरकार को एक बड़ी जीत हासिल हुई है। केंद्र सरकार ने बहुप्रतीक्षित बिल तीन तलाक को पास करवा लिया है। बिल के पक्ष में 99 वोट पड़े और इसके खिलाफ 84 मत पड़े। इस पर NDA को बीजू जनता दल (बीजद) का भी सहयोग मिला है। 

केंद्रीय कानून एवं न्‍याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2019 राज्‍यसभा में दोपहर करीब 12 बजे पेश क‍िया गया था। राज्‍यसभा में विधेयक पेश करते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जहां इसे लैंगिक समानता, महिलाओं के आत्‍म-सम्‍मान से जुड़ा बताया, वहीं कांग्रेस ने इसके औचित्‍य पर ही सवाल उठाए थे। 

AIADMK ने बिल को सेलेक्‍ट कमेटी को भेजने की मांग की थी। तीन तलाक बिल सेलेक्ट कमेटी को भेजने का प्रस्ताव मतदान के दौरान गिर गया। बिल के पक्ष में 100 के मुकाबले 84 मत पड़े थे। 

प्रस्ताव पेश करते कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद

वहीं  BSP, AIADMK, TRS और JDU के सदन से वॉकआउट करने से केंद्र सरकार की राह अधिक आसान हो गई थी।

राज्‍यसभा में चर्चा के दौरान कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि तीन तलाक बिल राजनीतिक रूप से प्रेरित है। इसमें ऐसे प्रावधान हैं, जिसकी वजह से पति-पत्‍नी लड़ते रहेंगे, वह एक-दूसरे के खिलाफ वकीलों पर अपना धन लुटाएंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार