पतंजलि की ई-कॉमर्स में एंट्री, अब ऑनलाइन उपलब्ध हैं पतंजलि के प्रोडक्ट

सुभाष रतूड़ी

‘हरिद्वार से हरद्वार तक’ स्लोगन के साथ पतंजलि का ई-कॉमर्स व्यवसाय में धमाकेदार एंट्री हो गई है। अब पतंजलि के प्रोडक्ट ऑनलाइऩ उपलब्ध हैं। आने वाले दिनों में पतंजलि अपना विदेशों में भी कारोबार शुरू कर सकती है।


नई दिल्लीः ‘हरिद्वार से हरद्वार तक’ स्लोगन के साथ पतंजलि आयुर्वेद का ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर धमाकेदार एंट्री हो गई है। अब पतंजलि के प्रोडक्ट ऑनलाइऩ भी उपलब्ध हैं। इस दौरान बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की मौजूदगी में https://www.patanjaliayurved.net/ वेबसाइट को लॉन्च किया गया।

बाबा रामदेव ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि 'अब ग्राहक पतंजलि के उत्पाद अमेजन, फ्लिपकार्ट, पेटीएम मॉल, ग्रोफर्स और बिगबास्केट समेत अन्य बड़े ऑनलाइन पोर्टल पर खरीद सकते हैं। इन कंपनियों के अलावा वह शॉपक्लूज व नेटमेड्स के मंच पर भी अपने उत्पाद बेचें जाएंगे। पतंजलि ने कम्पनियों के साथ अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइऩ बेचने के लिए करार किया है'।

 

ऑनलाइन सेवा पहुंचाने का लक्ष्य 
बाबा रामदेव ने कहा कि 'पतंजलि मुम्बई में ही नहीं देश के दिलो में राज करेगी। अपनी योजना के बारे में बताते हुए बाबा ने कहा कि वे मध्य प्रदेश के साथ महाराष्ट्र में भी अपनी यूनिट शुरू करने वाले हैं। उन्होंने व्यवसाय के तहत 5 करोड़ लोगों तक ऑनलाइन सेवा पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। कंपनी महाराष्ट्र में किसानों से संतरे खरीदेगी और उनकी यूनिट लगा चुकी है'।

क्वालिटी और लॉयल्टी के बीच कोई समझौता नहीं 
योगगुरू से बिजनेसमैन बने बाबा रामदेव ने शहीद सैनिकों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने की बात कही। बाबा ने स्वदेशी समृद्धि कार्ड के पेशकश की भी योजना का खुलासा किया। उन्होंने क्वालिटी और लॉयल्टी के बीच कोई समझौता न करने की बात कही। बाबा रामदेव के मुताबिक पतंजलि नॉट फॉर प्रोफिट कंपनी बनने की तरफ बढ़ेगी। इसके लिए कंपनी आने वाले समय में 1 लाख करोड़ रुपये की चैरिटी करेगी। हम लोगों से दान भी लेंगे। पतंजलि आयुर्वेद के प्रमुख बालकृष्ण ने कहा‍ कि 'पतंजलि हर दिन 10 लाख से भी ज्यादा ऑर्डर प्रोसेस करने की क्षमता रखती है'। 

रिटेल सेक्टर में एफडीआई का विरोध 
बताते चलें कि साल 2016-17 में पतंजलि का टर्नओवर 10,500 करोड़ रुपये से ज्यादा रहा है। अब इन कवायदों के जरिए पतंजलि अपने लाभ को दुगुना करना चाहती है। बाबा ने रिटेल सेक्टर में एफडीआई का विरोध भी किया है। प्रेस वार्ता के दौरान योगगुरू स्वामी रामदेव के प्रवक्ता एस के तिजारावाला भी मौजूद रहे। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार