बड़ी खबर.. आतंकी हमले में शहीद 40 जवानों के पत्नी व बच्चों की इस तरह होगी देखभाल

डीएन ब्यूरो

देश की रक्षा करते हुए जिन जवानों ने पुलवामा आतंकी हमले में अपने प्राण न्योछावर कर दिए उन पर बहुत सारी जिम्मेदारियां थी, वो तो देश के लिए शहीद हो गए लेकिन अपने पीछे छोड़ गए रोते- बिलखते बच्चे और पत्नी। जिनकी देखभाल के लिए उठाए जायेंगे ये कदम। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट..

शहीद जवान के रोते- बिलखते परिजन
शहीद जवान के रोते- बिलखते परिजन

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा ज‍िले में सीआरपीएफ के काफ‍िले पर आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए ज‍िसके बाद पूरे देश में मातम का माहौल छा गया है। ज‍िस घर का सैन‍िक शहीद हुआ है, उस घर के लोगों की आंखों से तो मानो आंसू थमने का नाम ही नहीं ले रहा।

यह भी पढ़ें: कश्मीर में हुए आतंकी हमले की देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी एनआईए ने शुरू की जांच, कई अहम सबूत लगे हाथ

हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान के साथ ही कई रिश्ते भी शहीद हो गए। कई सपनों ने  दम तोड़ दिया। कितने बुजुर्ग पिता ने अपने होनहार बेटे को खो दिया। कितनी ही पत्नी का सुहाग उजड़ गया। कितने बच्चे मासूम के सर से पिता का साया छिन गया तो कितने ही मासूम बच्चों की तो अभी अपने पापा से पहचान पुख्ता भी नहीं हो सकी थी कि दोनों हमेशा हमेशा के लिए बिछुड़ गए।

पुलवामा में शहीद जवान के दुखी परिजन


देश की रक्षा करते हुए जिस जवान ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए उन पर बहुत सारी जिम्मेदारियां थी, वो तो देश के लिए शहीद हो गए लेकिन अपने पीछे छोड़ गए रोते- बिलखते बच्चे और पत्नी। जिनको तो शायद अभी भी विश्वास नहीं हो रहा होगा कि उनकी दुनिया पूरी तरह से उजड़ चुकी है और वो सब कुछ जानते हुए भी इस सच्चाई को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं।
शहीद जवान के परिजनों के साथ पूरे देश और सरकार की सहानुभूति है और परिजनों की देखभाल के लिए राज्य सरकार के साथ साथ रिलायंस फाउंडेशन ने भी सहायता करने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: जानिये.. पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के शवों की किस तरह हुई शिनाख्त.. दर्द भरी कहानी

इन राज्य सरकारों ने सहायता देने की घोषणा

>इस हमले में उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा 12 जवान शहीद हुए हैं। इन जवानों के परिवारों को प्रदेश सरकार की ओर से 25 लाख रूपये का चेक देने के साथ ही एक एकड़ जमीन और सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की गई है।

>असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने आतंकी हमले में शहीद हुए राज्य के सीआरपीएफ जवान मुनेश्वर बासुमतरी के परिवार को 20 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है।

>राजस्थान सरकार ने हमले में शहीद हुए राज्य के जवान की पत्नी को 25 लाख रूपए व एक एक परिजन को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

>पुलवामा के शहीदों में शामिल महाराष्ट्र के दो जवानों के परिवारों को राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 50 -50 लाख रूपये बतौर आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

>आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों में से ओडिशा के दो शहीद जवानों के प्रत्येक परिवार को राज्य सरकार ने शुक्रवार को दस दस लाख रूपये बतौर आर्थिक सहायता देने की  घोषणा की।
 

रिलायंस की तरफ से की जाएगी मदद

इस आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के बच्चों के परवरिश और उनके पढ़ाई से लेकर नौकरी के साथ-साथ परिजनों के रोजी रोटी तक की पूरी जिम्मेदारी रिलायंस फाउंडेशन ने ले लिया है और साथ ही फाउंडेशन ने यह भी घोषणा किया है कि इस आतंकी हमले में घायल सभी जवानों के हर संभव उपचार के लिए उनका हॉस्पिटल तैयार है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार