जब आफत बन बरसी बारिश..

डीएन संवाददाता

कानपुर में मानसून से लोगों को राहत तो मिली लेकिन बारिश के साथ शहरियों के लिए कई आफतें भी आई। कानपुर में बारिश से पूरा जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

बारिश से जलभराव
बारिश से जलभराव

कानपुर: मानसून की दस्तक के बाद से लगातार रुक रुक कर बारिश हो रही है जिससे लोगों को गर्मी से कुछ राहत तो जरूर मिली लेकिन यह बारिश कई लोगों के लिए आफत का सबब भी बन गई।

यह भी पढ़ें: बारिश ने रोकी फरियादियों की राह

बुधवार की झमाझम बारिश से लोगों को काफी परेशनियों का सामना करना पड़ा।

बारिश के चलते शहर के कई क्षेत्रों की कई सड़कें धंस गयी। सड़कों पर भरा लबालब पानी लोगों के घरों में घुस गया है। इसके चलते लोगों की दिनचर्या पर भी काफी असर पड़ा।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: नगर निगम की खुली पोल, पहली बारिश में शहर हुआ जलमग्न

परेशान रहे शहरवासी

बारिश के चलते चकेरी चौकी के पास रोड धंस गयी वही मूलगंज, फूलबाग के पास भी सड़के धंस गयी। शहर में कई जगहों पर सड़कों का कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। बारिश के कारण चमनगंज स्थित मकान के छज्जे ढह गए। यातायात पूरी तरह प्रभावित हो गया। सड़क धंसने और जलभराव के चलते बड़ी छोटी गाड़ियां रेंग रेंग कर निकल पाई तो कई लोगों की गाड़ियां भी बन्द हो गयीं। इस दौरान रोड पर जाम की स्थिति पैदा हो गयी। जूही पुल के नीचे एक कंटेनर जलभराव के कारण पानी में समाया रहा।

यह भी पढ़ें: महराजगंज में बांध टूटने से जलभराव की स्थिति,गांव छोड़कर भागे लोग

यह भी पढ़ें: कानपुर: सड़कों का निरीक्षण करने पहुंचे नगर आयुक्त खुद हुए गड्ढे का शिकार

बारिश ने खोली नगर निगम की पोल

किदवई नगर थाने में भी जलभराव की भयंकर स्थिति दिखाई दी। प्रदेश भर की सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए सरकार ने कई वायदे किये लेकिन अब तस्वीर सामने है। सड़कें धंस गयी है और सड़कों पर जलभराव की निकासी का कुछ पता नहीं है।

यह भी पढ़ें: बारिश बनी आफत, लक्ष्मीनगर में 3 मंजिला इमारत ढही, मलबे में कई दबे

मानसून के शुरुआत में ही नगर निगम की पोल खुलती नजर आ रही है। ऐसे में शहर में बारिश के चलते धंसी सड़कों और जलभराव पर काबू पाना नगर निगम के लिए बड़ी चुनौती होगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार