नासा ऑरियन संग 2 अंतरिक्ष यात्री भेजने पर विचार करेगी

डीएन ब्यूरो

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ दिनों पूर्व वादा किया था कि वह अंतरिक्ष के रहस्यों से पर्दा हटाएंगे। ट्रंप के इस वादे के बाद नासा ने अपने स्पेस लांच सिस्टम (एसएलएस) रॉकेट और ऑरियन अंतरिक्ष यान, एक्सप्लोरेशन मिशन-1 (ईएम-1) की पहली मानवरहित उड़ान के साथ चालक दल के दो सदस्यों को जोड़ने की संभावना तलाशने से संबंधित एक अध्ययन शुरू कर दिया है।

नासा
नासा

वाशिंगटन: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ दिनों पूर्व वादा किया था कि वह अंतरिक्ष के रहस्यों से पर्दा हटाएंगे। ट्रंप के इस वादे के बाद नासा ने अपने स्पेस लांच सिस्टम (एसएलएस) रॉकेट और ऑरियन अंतरिक्ष यान, एक्सप्लोरेशन मिशन-1 (ईएम-1) की पहली मानवरहित उड़ान के साथ चालक दल के दो सदस्यों को जोड़ने की संभावना तलाशने से संबंधित एक अध्ययन शुरू कर दिया है।

 

नासा

 

नासा के कार्यवाहक प्रशासक रॉबर्ट लाइटफूट ने नासा के ह्यूमन एक्प्लोरेशन एंड ऑपरेशंस मिशन डायरेक्टोरेट के सहयोगी प्रशासक, विलियम गर्स्टनमायर को यह अध्ययन कराने की जिम्मेदारी सौंपी है और इसके वसंत के प्रारंभ में पूरा होने की संभावना है।

यह भी पढ़े: ट्रंप ने मीडिया को फिर कहा 'फर्जी'

नासा ने शनिवार को एक बयान में कहा कि इस आकलन में तकनीकी संभावना, जोखिम, लाभ, आवश्यक अतिरिक्त कार्य, आवश्यक संसाधनों और पहले मिशन में चालक दल के सदस्यों को जोड़ने से संबधित प्रभावों की समीक्षा की जाएगी।

प्रारंभ में ऑरियन की पहली उड़ान को मानवरहित मिशन के रूप में तय किया गया था।

गर्स्टनमायर ने कहा, "हमारी प्राथमिकता ऑरियन अंतरिक्ष यान और स्पेस लॉन्च सिस्टम रॉकेट के साथ सभी नियोजित खोज मिशनों को सुरक्षित और प्रभावी तरीके से संपन्न कराने की है। यह एक आकलन है, न कि निर्णय, क्योंकि ईएम-1 का प्राथमिक मिशन अपनी जगह एक मानवरहित उड़ान परीक्षण के रूप में बरकरार है।" 

(आईएएनएस)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार