क्रूड़ आयल की कीमतों में बढ़ोत्तरी से और महंगा हो सकता है पेट्रोल-डीजल

डीएन ब्यूरो

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी के कारणों से पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर एक बार बढ़ोत्तरी हो सकती है। पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी के कारण पेट्रोल के दाम 2013 के बाद सबसे अधिक हो गये है। एक बार फिर से क्रूड़ आयल (कच्चे तेल) में बढ़ोत्तरी होने से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के अनुमान लगाये जा रहे है। वर्तमान समय में अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड़ आयल की कीमत 74 डालर प्रति बैरल है।

कच्चे तेल की कीमतों के साथ केंद्र और राज्य सरकार द्वारा लगाए जाने वाले टैक्स से भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि होती है। लगभग सभी राज्यों में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाला टैक्स अलग है। इसलिए, सभी राज्यों में कीमत अलग है। सरकार पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग हो रही है। पेट्रोल और डीजल को पिछले साल सरकार ने अपने नियंत्रण से बाहर कर दिया था।

अप्रैल की शुरुआत से लेकर पेट्रोल के दाम अब तक 50 पैसे बढ़ चुके हैं। डीजल में भी करीब 90 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। इस साल के शुरुआत 4 महीने में पेट्रोल के दाम पहले से ही करीब 4 रुपए बढ़ चुके डीजल के कीमतें 5-6 रुपए तक बढ़ चुकी हैं। यह बढ़ोत्तरी किसी भी साल में होने वाली सबसे बड़ी बढ़ोतरी है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार