लखनऊ: रसूखदारों के रसूख के चलते पुलिस ने घर में मचाया उत्पात

डीएन ब्यूरो

यूपी के सुल्तानपुर जिले के सिराज अहमद ने पुलिसिया गुंडागर्दी की पोल खोली। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने घर के मुखिया कि गैरमौजूदगी में घर की महिलाओं और बच्चों से मारपीट करते हुए घर का सारा साजो-सामान तोड़ डाला। पूरी खबर..


लखनऊ: योगी सरकार कानून व्यवस्था के लाख दावे करें की कानून व्यवस्था पूरी तरीके से सही है लेकिन पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के की लापरवाही अक्सर देखने को मिल रही है।

ऐसा ही एक ताजा मामला सामने आया है सुल्तानपुर के सदर कोतवाली काा। जहां पर 302 मामलें के गवाह के घर में पुलिस ने 20 तारीख को हमला बोल और घर में महिलाओं और बच्चों को पीटा। इसके बाद घर के मुखिया के घर में न होने की वजह से पुलिस उन्हें थाने में हाजिर होने के लिए कहा।

यह आरोप पीड़ित परिवार ने लखनऊ के प्रेस क्लब में लगाया है। वहीं उनका आरोप है कि सब जगह गुहार लगाने के बावजूद भी उन्हें इंसाफ नहीं मिल रहा है और फर्जी तरीके से हमें और हमारे परिवार को पुलिस पर तारीख कर रही है और फंसा रही है। इसे लेकर आज लखनऊ के प्रेस क्लब में उसने मीडिया के सामने गुहार लगाते हुए इंसाफ की मांग की है।

वहीं पीड़ित सिराज अहमद ने भी न्याय की आस करते हुए बताया कि हम लोगों के ऊपर कोई मुकदमा नहीं है। लेकिन पुलिस वाले हैं जो फर्जी तरीके से मुकदमा करने की बात कहते हैं और धमकी देते हैं। वहीं उनका आरोप है कि सिराज अहमद ने बताया कि हमारे ही नाम के सिराज अहमद है। जो पुलिस की मिलीभगत से हम लोगों को परेशान कर रहे हैं। क्योंकि मैं 302 मामलें का गवाह हूं और मेरे ऊपर दबाव बना रहे हैं कि गवाही न दें।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …