राजनाथ सिंह ने व्यापारियों से कहा, जीएसटी की बाकी खामियां भी दूर करेगी सरकार

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश के व्यापारियों के एक प्रतिनिधिमंडल से बातचीत में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जीएसटी प्रणाली में आ रही व्यवहारिक कठिनाईयों के बारे मे पीएम मोदी को जब पता चला तो उन्होंने तुरंत इसे दूर कराने को कहा, सरकार आगे भी ऐसा करती रहेगी..

लखनऊ: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) प्रणाली लागू करने का मकसद व्यापारियों की कठिनाईयों को दूर करना है। उन्होनें कहा कि इस व्यवस्था की जो भी खामियां शेष हैं, उन्हें भी जल्द दूर कर लिया जायेगा।

व्यापारियों जताया सरकार का आभार जताया

गृहमंत्री ने यह आश्वासन यूपी आदर्श व्यापार मंडल के व्यापारी नेताओं के एक डेलिगेशन को दिया। व्यापारियों के इस प्रतिनिधिमंडल ने जीएसटी काउंसिल की गुवाहाटी में आयोजित 23 वीं बैठक में कई वस्तुओं की जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 प्रतिशत करने पर सरकार का आभार जताया और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के 4 कालिदास आवास पर पहुंच कर उन्हें धन्यवाद ज्ञापन सौंपा। 

जीएसटी से हुई सुविधा

इस मौके पर गृहमंत्री राजनाथ ने व्यापारी नेताओं से कहा कि सरकार जनता की भलाई के लिये योजनायें बनाती है। जीएसटी को लेकर उन्होनें बताया कि पहले व्यापारियों को 12 से 14 टैक्स अलग-अलग दफ्तरों मे जाकर जमा करने होते थे। आज जीएसटी लागू होने के बाद से व्यापारियों के लिए टैक्स की एकीकृत व्यवस्था लागू हो चुकी है, जिससे काफी सुविधा हुई है।

पीएम मोदी को जब पता चला..

उन्होंने जीएसटी प्रणाली में आ रही व्यवहारिक कठिनाईयों पर बताया कि जब इस बारे मे पीएम मोदी को पता चला तो उन्होनें तुरंत इसे दूर कराने को कहा। जिस पर पिछले दिनों गुवाहाटी मे जीएसटी काउंसिल की बैठक हुई। साथ ही 2 सौ आवश्यक वस्तुओं के टैक्स कम कर दिये गए। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने निकाय चुनावों मे पहली बार भाजपा का घोषणापत्र जारी होने पर कहा कि यह अच्छी बात है। पार्टी अपने विजन से जनता को परिचित कराना चाहती है। उन्होनें कहा कि हमारी सरकार गांवो के साथ शहरों का भी विकास करने मे लगी है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)







आपकी राय

#DNPoll क्या सीबीएफसी के अनुमोदन बिना फिल्म पद्मावती की प्राइवेट स्क्रीनिंग उचित है?