J-K: आतंकियों की मौजूदगी पर शोपियां जिले में सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन जारी

डीएन संवाददाता

दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने आज जिले में घेराबंदी और तलाशी का अभियान शुरू कर दिया लेकिन भीड़ द्वारा बलों पर पथराव किए जाने की वजह से इनके प्रयास अवरूद्ध हो रहे हैं।

करीब 1,000 सेना कर्मियों और पुलिस बल ऑपरेशन के लिए तैनात
करीब 1,000 सेना कर्मियों और पुलिस बल ऑपरेशन के लिए तैनात

श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने आज जिले में घेराबंदी और तलाशी का अभियान शुरू कर दिया लेकिन भीड़ द्वारा बलों पर पथराव किए जाने की वजह से इनके प्रयास अवरूद्ध हो रहे हैं।

सेना के एक अधिकारी ने कहा कि तलाशी अभियान शोपियां के जेनापोरा इलाके के अंतर्गत आने वाले हेफ गांव में शुरू किया गया।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल के जवान बड़ी संख्या में इस तलाशी अभियान में शामिल थे। यह अभियान आज सुबह शुरू हुआ।

यह भी पढ़ें: रक्षा मंत्री अरुण जेटली और सेना प्रमुख करेंगे जम्मू-कश्मीर का दौरा

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि स्थानीय निवासियों की ओर से सुरक्षा बलों पर पथराव किए जाने के चलते अभियान बाधित हो रहा है।

उन्होंने कहा कि पत्थरबाजों को हटाने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी इस इलाके में बुलाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि पत्थरबाजों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़पों में फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है और अभियान जारी है।

इस तलाश अभियान से दो सप्ताह पहले भी आतंकियों की धरपकड़ के लिए एक ऐसा ही, लेकिन काफी बड़े स्तर का तलाश अभियान शोपियां जिले में चलाया गया था।

चार मई को लगभग दो दर्जन गांवों में पूरे दिन चले तलाश अभियान में सुरक्षा बलों को कुछ नहीं मिला। इस अभियान में 4000 से ज्यादा सैनिक शामिल थे। उस दिन आतंकियों ने अभियान से लौटते सेना के गश्त दल पर हमला बोला, जिसमें कैब चालक की मौत हो गई और कई सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

दक्षिण कश्मीर में ये तलाश अभियान दरअसल इसलिए चलाए जा रहे हैं क्योंकि सोशल मीडिया पर आतंकियों के बड़े-बड़े गिरोहों के वीडियो सामने आ रहे हैं। कई दलों में तो आतंकियों की संख्या 30 तक भी है। यह स्थिति तब है, जब अधिकारियों ने ऐसी 22 वेबसाइटों और एप्लीकेशनों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार