फतेहपुर में भूमाफियाओं का नंगा नाच, जमीन कब्जाने को लेकर ताबड़तोड़ फायरिंग, एक की मौत, दहशत

विश्व दीपक अवस्थी

एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में बैठकर दावा कर रहे हैं कि सूबे में जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों की खैर नही और वहीं दूसरी तरफ फतेहपुर में जमीन कब्जा करने वाले माफिया.. गरीबों को गोलियों से छलनी कर मौत के घाट उतार रहे हैं। इन सबके बीच चौंकाने वाली बात तो ये है कि फतेहपुर का जिला प्रशासन भूमाफियाओं के आगे घुटना टेके दर्शक दीर्घा में बैठ तमाशा देख रहा है.. एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


फतेहपुर: अब से थोड़ी देर पहले सदर कोतवाली क्षेत्र के आबूनगर नई बस्ती का इलाका गोलियों की ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्रा उठा। भूमाफियाओं ने एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया और एक को बुरी तरह से घायल कर दिया। जमीन कब्जाने को लेकर दिन-दहाड़े की गयी फायरिंग से पूरे इलाके में भय औऱ आतंक का माहौल व्याप्त हो गया है।

ये है मामला

भूमाफिया आबूनगर में नगर पालिका की 5 बीघे जमीन पर कब्ज़ा करना चाहते थे। जिस वजह से भूमाफिया रविवार को स्थानीय लेखपाल अनुपम के साथ पहुंचे। मौके पर मृतक रामनारायण यादव मवेशी बांध रहा था। घटना स्थल पर लेखपाल ने मृतक से जमीन की नप्पी का बात कही। इसी को लेकर लेखपाल और रामनारायण के बीच विवाद हो गया।

 

इस बीच मौका पाकर भूमाफियाओं ने रामनारायण पर कई राउंड फायरिंग झोंक दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना के बाद गुस्साये लोगों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया और आम जनता ने सदर अस्पताल के बाहर जाम लगा डाला। खबर लिखे जान तक मौके पर भारी तनाव व्याप्त है। 

लेखपाल की भूमिका संदिग्ध

आम कहावत है कि अधिकांश मामलों में जहां जमीनी विवाद होता है उसका एक सिरा लेखपाल से जाकर जुड़ता है। इस मामले में भी लोग लेखपाल और भू-माफियाओं के बीच मिली-भगत की आशंका जता रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार