Lockdown in Gujarat: लॉकडाउन की वजह से कारोबार बंद, न सैलरी न राशन के पैसे, कुछ ऐसा है बेघर मजदूरों का हाल

डीएन ब्यूरो

एक तरफ जहां भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं कुछ लोगों को इस लॉकडाउन की वजह से काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को गुजरात के सूरत में कई मजदूरों ने मिलकर हाहाकर मचा दिया है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

सूरत में मचा हाहाकार (फाइल फोटो)
सूरत में मचा हाहाकार (फाइल फोटो)

सूरतः लॉकडाउन के दौरान पूरे देश को बंद कर दिया गया है। वहीं कई लोगों को इसकी वजह से कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है। भूख-प्यास और गरीबी से मजबूर लोग सड़कों पर उतर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन बढ़ाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ले सकते हैं फैसला 

शुक्रवार को सूरत में एक साथ हजारों मजदूर सड़कों पर उतर आए हैं। हजारों की तादात में परेशान मजदूरों ने सड़कों पर उतर कर उन्हें घर भेजने की मांग की है। उन्होंने कई गाड़ियों और ठेलों में आग लगा दी। पुलिस ने जब कुछ लोगों को हिरासत में लिया तब जाकर मामला शांत हुआ।

यह भी पढ़ें: भारत में लगातार बढ़ते जा रहे हैं कोरोना के मरीज, ये हैं चिंताजनक आंकड़े

दरअसल, शुक्रवार की शाम को दूसरे राज्यों के फंसे सारे मजदूरों ने मोर्चा खोला और घर वापसी की मांग करने लगे। उनका आरोप है कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें सैलरी नहीं दी जा रही है। उनके पास राशन-पानी के भी पैसे खत्म हो गए हैं। जिसकी वजह से अब उन्होनें घर जाने की मांग की है। बता दें कि गुजरात में कोरोना से अब तक 19 लोगों की जान जा चुकी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार