सहारनपुर मामले में एसएसपी सुभाष चंद्र दूबे निलंबित

डीएन संवाददाता

योगी सरकार ने सहारनपुर कांड के बाद बड़ी कार्रवाई करते हुए एसएसपी सुभाष चंद्र दूबे को निलंबित कर दिया है। सस्पेंशन के दौरान दूबे डीजीपी कार्यालय से अटैच रहेंगे। डीएम एनपी सिंह का तबादला कर दिया गया है। डीएम के भी निलंबन की खबर है लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि होनी बाकी है। जिले में नये डीआईजी, डीएम व एसएसपी की तैनाती कर दी गयी है। इसके अलावा संबंधित एसडीएम और सीओ पर भी गाज गिरी है।

सहारनपुर हिंसा का दृश्य
सहारनपुर हिंसा का दृश्य

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश सरकार ने सहारनपुर में हुई घटनाओं पर कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। एक के बाद एक हो रही हिंसा के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को नाराजगी जाहिर करते हुए प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों को फटकार लगाई है और कार्रवाई करते हुए एसएसपी सुभाष चंद्र दूबे को निलंबित कर दिया है। इस दौरान ये डीजीपी कार्यालय से संबंद्ध रहेंगे।

यूपी सरकार की आधिकारिक प्रेस रिलीज

जिलाधिकारी एनपी सिंह को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। 

 

केएस इमैनुअल को डीआईजी सहारनपुर, प्रमोद कुमार पांडेय को डीएम सहारनपुर और बबलू कुमार को सहारनपुर का नया एसएसपी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: एक बार फिर दंगे की आग में झुलसा सहारनपुर

गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र और एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश मौके पर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर के बिगड़े हालात को काबू में करने के लिए कई वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर भेजा है। इनमें गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र, एडीजी (ला एंड आर्डर) आदित्य मिश्र, आईजी एसटीएफ अमिताभ यश प्रमुख रुप से शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: मायावतीः पक्षपात की वजह से हुई शब्बीरपुर की घटना

क्या है पूरा मामला

5 मई को शब्बीरपुर गांव में दलित और ठाकुरों के बीच संघर्ष में एक की मौत हो गई थी। फिर 9 मई को पुलिस और दलितों के झड़प के बाद 9 जगहों पर हिंसा और आगजनी की गयी थी वहीं 19 मई को इसे मुद्दा बनाकर भीम सेना ने दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन भी किया गया था। इसके बाद मंगलवार को मायावती के दौरे के बाद दलित और ठाकुरों में दोबारा हिंसा के बाद कई लोग घायल हुए थे। जबकि एक की मौत हो गई थी।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …