इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय के हॉस्‍टल में छापेमारी, बम बनाने का सामान बरामद, 58 कमरे सील

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय में छापेमारी के दौरान पुलिस ने बम और असलहे बनाने का सामान बरामद किया है। पुलिस की छापेमारी में 58 कमरों को सील किया है साथ ही कई गाड़ियां भी बरामद की गई हैं।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

प्रयागराज: उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय में छापेमारी की। छापेमारी में पुलिस को बम बनाने का सामान और अवैध असलहे बनाने का सामान बरामद किया गया। इस दौरान पुलिस ने छापेमारी में हॉस्‍टल के 58 कमरों को भी सील कर दिया है। पुलिस की अचानक छापेमारी से छात्रों में हड़कंप मच गया। 

छापेमारी के बाद हॉस्‍टल के बाहर बिखरा पड़ा सामान

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र की हत्या के बाद पुलिस प्रशासन ने छात्रावासों में छापेमारी की। पुलिस को इस दौरान वहां से जिंदा बम और बम-असलाह बनाने का सामान मिला। इस दौरान पुलिस ने वहां अवैध रूप से रह रहे छात्रों के समानों को भी बाहर फेंक दिया। 

इस संबंध में एसपी सिटी ब्रजेश श्रीवास्तव ने बताया कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों के आपराधिक गतिविधियों की जानकारी मिली थी। इसके बाद कई छात्रावासों में तलाशी अभियान चलाया गया। यह अभियान इसलिए भी महत्वपूर्ण था ताकि वहां रह हरे छात्रों को परेशानी न हो। कई कमरों से संदिग्ध चीजें मिली हैं। आगे भी इस तरह का अभियान जारी रहेगा।

हॉस्टल में हत्या पर हाईकोर्ट सख्त, स्वत: लिया संज्ञान

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी हॉस्टल में पूर्व छात्र रोहित शुक्ला की हत्या की घटना पर हाईकोर्ट के तेवर सख्त हैं। छात्रावासों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लेते हुए मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर ने इस पर आपराधिक जनहित याचिका कायम कर ली है।

कुलसचिव, कमिश्नर, डीएम, एसएसपी को नोटिस जारी 

कोर्ट ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलसचिव, कमिश्नर, डीएम, एसएसपी को नोटिस जारी कर अगली सुनवाई पर तलब किया है। इन सभी से घटना के बाबत उठाए गए कदमों की जानकारी मांगी है। 

एक युवक की गोली मारकर कर दी गई हत्‍या

ज्ञात हो कि बीते दिनों पहले रोहित शुक्‍ला नाम के एक छात्र की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। यह घटना पीसीबी छात्रावास की है। युवक की मौके पर ही मौत हो गई थी। एसपी सिटी के अनुसार आदर्श त्रिपाठी नाम के एक लड़के ने गोली चलाई थी। गोली सिर के पीछे मारी गई थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …