अदालत के आदेश को दरकिनार करते हुए जिम्मेदारों ने जबरन बनाई नहर

डीएन ब्यूरो

हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले में सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने अदालत के आदेश को दरकिनार करते हुए मनमाने तरीके से एक गरीब महिला की निजी जमीन पर जबरन नहर बनवा दी है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले में सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने अदालत के आदेश को दरकिनार करते हुए मनमाने तरीके से एक गरीब महिला की निजी जमीन पर जबरन नहर बनवा दी है। गांव खेड़ी कलां की महिला चंद्रकला की जमीन पर सिंचाई विभाग ने जबरन नहर बनाकर अफसरशाही का अनूठा उदाहरण दिया है। चंद्रकला के पति सुरजीत दिल के मरीज हैं और दिल्ली पुलिस से वीआरएस ले चुके हैं। उन्हाेंने यहां पत्रकारों को बताया कि सिंचाई विभाग ने उनकी जमीन पर जबरन नहर बना ली है और इसके लिए उन्हेें सरकारी मुआवजा भी नहीं दिया है।

यह भी पढ़ें: दुष्कर्म की घटनाओं पर देश भर में गुस्साए लोग, छात्रों ने निकाला विरोध प्रदर्शन 

 सबसे मजे की बात है कि सुरजीत ने नहर निकाले जाने के समय मामले की जानकारी मुख्यमंत्री विंडों पर भी दी थी और उस समय सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने कहा था कि नहर अधिग्रहीत जमीन पर ही बनाई जाएगी लेकिन बाद में रातो रात सुरजीत की जमीन पर नहर निकाल दी गई और इस दौरान वहां पुलिस तैनात करा दी गई थी। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार