संसद भवन में आधी रात को बटन दबाकर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने लांच किया GST

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

30 जून/ एक जुलाई की मध्य रात्रि को 12 बजे देश में आर्थिक क्रांति लाने के मकसद से ऐतिहासिक GST को लांच कर दिया गया। संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में आधी रात 12 बजे बटन दबाकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जीएसटी लांच किया।

बटन दबाकर जीएसटी को लांच करते राष्ट्रपति और पीएम
बटन दबाकर जीएसटी को लांच करते राष्ट्रपति और पीएम

नई दिल्ली: 30 जून/ एक जुलाई की मध्य रात्रि को 12 बजे देश में आर्थिक क्रांति लाने के मकसद से ऐतिहासिक GST को लांच कर दिया गया। संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में आधी रात 12 बजे बटन दबाकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जीएसटी लांच किया।

माना जा रहा है कि यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा टैक्स सुधार, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) है। देश में एक टैक्‍स लागू करने का 17 साल का सफर भी आखिरकार अपने अंजाम तक पहुंच गया। 

तस्वीरों में देखिये लांचिंग समारोह: 

 

ऐतिहासिक उपलब्धि: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस महत्वपूर्ण कर सुधार की तुलना आजादी से करते हुए कहा कि यह देश के आर्थिक एकीकरण में महत्वपूर्ण उपलब्धि है और इशका परिणाम सबके सामने आयेगा।

नये युग के समान: राष्ट्रपति

संसद के केंद्रीय कक्ष में हुई विशेष बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इसे कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण है, यही नही यह कराधान के क्षेत्र में एक नया युग है, जो केंद्र और राज्यों के बीच व्यापक सहमति का नतीजा है।

समारोह में उप-राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व पीएम एचडी देवेगौडा अधिकांश मंत्री एवं सांसद मौजूद रहे लेकिन कयासों के विपरित अमिताभ बच्चन से लेकर कोई जानी-मानी सेलेब्रिटी नही पहुंचा। पूर्व पीएम डा. मनमोहन सिंह सहित समूचे कांग्रेस ने समारोह का बहिष्कार किया।


 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार