गोरखपुर और फूलपुर की हार ने बेचैन किया भाजपा नेतृत्व को, लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हड़कंप

डीएन संवाददाता

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सपा-बसपा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और भारतीय जनता पार्टी को तगड़ा झटका दिया है। अब सत्ता प्रतिष्ठान में चारों तरफ कोहराम मचा हुआ है कि आखिर ये हो क्या गया.. पूरी तहकीकात..

नरेन्द्र मोदी और अमित शाह
नरेन्द्र मोदी और अमित शाह

गोरखपुर: बीजेपी की सबसे मजबूत सीट के रूप में देखी जानी वाली गोरखपुर की सीट भी उनके साथ से निकल गई है। कभी प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ के रूप में देखी जाने वाली गोरखपुर की सीट पर सपा ने पहली बार ऐतिहासिक जीत हासिल की है। इस जीत के साथ ही 29 साल बाद पहली बार किसी गैर भाजपा दल का उम्मीदवार गोरखपुर से दिल्ली पहुंचा है। यहाँ से सपा के प्रवीण निषाद ने भाजपा प्रत्याशी उपेन्द्र दत्त शुक्ल को हरा दिया है। 

यही नही फूलपुर में भाजपा की करारी हार हुई है। यूपी के अलावा बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर भी भाजपा और जेडीयू गठबंधन को करारी हार का सामना करना पड़ा है। 

अब सत्ता प्रतिष्ठान में चारों तरफ कोहराम मचा हुआ है कि आखिर ये कैसे हो गया। लखनऊ से लेकर दिल्ली तक मंथन का दौर चल रहा है। फेरबदल की हलचल तेज हो गयी है। अगले कुछ दिन भाजपा की राजनीति में काफी अहम होंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार