कोलकाता में चली देश की पहली बायोगैस ‘बस’

डीएन ब्यूरो

प्रदूषण से जूझ रहे कोलकातावासियों के लिए एक अच्छी ख़बर है कि, पश्चिम बंगाल सरकार ने कोलकाता में बायोगैस बस सेवा शुरू की है। ये बसें गोबर और कचरे से बनने वाली गैस से चलती हैं।

बायोगैस बस
बायोगैस बस

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में शुक्रवार से बायोगैस से चलने वाली बसें सड़कों पर दौड़ने लगीं। गाय के गोबर से तैयार बायोगैस से चलने वाली इन बसों में 55 सीटें हैं यानी एक बस में 55 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। ऑपरेटरों का दावा है कि यह भारत की पहली ऐसी बस सेवा है।
इस बस पर सफर करने वाले वाले प्रत्येक यात्री से न्यूनतम एक रुपये किराया लिया जाएगा। कोलकाता और आसपास के क्षेत्रों में तैनात किए जाने वाली 16 बसों के बेड़े में से एक 17.5 किमी अल्टदंगा-गायरिया तक दौड़ी।
इन बसों के संचालन के लिए कोलकाता में 100 बायोगैस स्टेशन बनाए जाएंगे। पहला स्टेशन अल्टदंगा में लगाया जाएगा। यह पहल नई और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के केंद्रीय सब्सिडी योजना के तहत शुरू की गई है। इस बस के निर्माण में करीब 18 लाख रुपये की लागत आई है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …