चुनावी रंजिश में भाजपा-बसपा के समर्थकों में झड़प

डीएन ब्यूरो

बिठूर के टिकरा गांव में चुनावी रंजिश के चलते भाजपा और बसपा समर्थकों का गुस्सा एक दूसरे पर फूट पड़ा जिसके बाद दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। बात इतनी बढ़ी की मामला पथराव तक जा पहुंचा जिसमें दर्जनभर लोग घायल हो गए।

स्रोत इंटरनेट
स्रोत इंटरनेट

कानपुर: बिठूर के टिकरा गांव में चुनावी रंजिश के चलते भाजपा और बसपा समर्थकों में मारपीट के बाद पथराव और लाठी डंडे चले। जिसमें दोनों पक्षों से 13 लोग घायल हो गए। टिकरा गांव निवासी पूर्व प्रधान रामकिशोर कठेरिया बसपा समर्थक हैं। उनके पड़ोस में रहने वाले विष्णु कठेरिया ने हाल में ही बसपा का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

शनिवार को भाजपा प्रत्याशी अभिजीत सिंह सांगा की जीत के बाद विष्णु ने रामकिशोर के दरवाजे के सामने से विजय जुलूस निकाला था, जिसे लेकर दोनों में मनमुटाव हो गया। सोमवार को रामकिशोर ने दरवाजे पर तेज आवाज में डीजे बजाया तो विवाद की स्थिति पैदा हो गई। विष्णु के अनुसार मंगलवार सुबह वह टिकरा रोड पर छेदीलाल पाल के घर में बने भाजपा कार्यालय पर बैठे थे तभी रामकिशोर ने गाली गलौज कर दी। तब लोगों ने मामला शांत कराया।

आरोप है कि जब वह अपने घर पहुंचे तो रामकिशोर ने परिजनों के साथ लाठी डंडों से घर में घुसकर हमला करने के साथ पथराव कर दिया। जिसमें विष्णु कठेरिया, बेटे अमित, सुमित, भतीजा संजय, जसवंत, साला संतोष व छेदीलाल पाल घायल हो गए। वहीं रामकिशोर का आरोप है कि वह दूध दुहाने जा रहे थे, तभी विष्णु ने गाली देते हुए मारपीट और पथराव किया। जिसमें उसके साथ ही बेटा नीरज, सनी, सुमेंद्र, बेटी ज्योति और चाचा रामचंद्र घायल हो गए। दोनों पक्षों में मारपीट और पथराव में 13 लोग घायल हो गए। बिठूर थाने का फोर्स मौके पर पहुंचा और सभी को कल्याणपुर सीएचसी भेजा। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ तहरीर दी। बिठूर एसओ जितेंद्र सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों की तरफ से रिपोर्ट दर्जकर कार्रवाई की जा रही है। दोनों पक्ष समझौते का प्रयास भी कर रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार