Pati, Patni or Woh: प्रेमी संग पत्नी ने अपने ही पति का किया ऐसा हाल, रिश्ते हुए तार-तार

डीएन ब्यूरो

कुछ समय पहले एक व्यक्ति की हुई हत्या मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने पुलिस को इस हत्या का कारण और इसके पीछे की साजिश के बारे में बताया है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


आजमगढ़ः 20 मई को वादी मूलचन्द यादव पुत्र राजाराम यादव निवासी निकासीपुर थाना दीदारगंज, आजमगढ़ द्वारा लिखित तहरीर थाना दीदारगंज पर दिया कि 18 मई को शौच करने नहर गोदाम निकासीपुर के पास गया था तो देखा कि पुल नहर के नीचे एक प्लास्टिक बोरे में एक व्यक्ति की लाश सड़ी गली हालत में पुलिया में फंसी है। लाश से दुर्गन्ध आ रही थी। वादी के द्वारा सूचना देने के पश्चात थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0- 86/20धारा 302/201 भादवि पंजीकृत किया गया। 

यह भी पढ़ें: सिर चढकर बोला नशा, चले लाठी-डंडे और दोस्त ने ही ले ली दोस्त की जान

पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ द्वारा चलाये जा रहे वांछित/वारण्टी अभियुक्तों के खिलाफ गिरफ्तारी सम्बन्धित अभियान के तहत पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) आजमगढ़ के निर्देशन में और पुलिस उपाधीक्षक क्षेत्र फूलपुर जनपद आजमगढ़ के नेतृत्व में दिनांक 23 मई को थाना प्रभारी और उनकी टीम  द्वारा मु0अ0सं0 86/20 धारा 302/201 भा0द0वि0 से सम्बन्धित मृतक अज्ञात की शिनाख्त रमेश कुमार राजभर पुत्र स्व0 अच्छेलाल राजभर सा0 निकासीपुर थाना दीदारगंज जनपद आजमगढ़ के रुप में हुई है।

हत्या की ये घटना मृतक की पत्नी रेखा देवी और अंकित यादव पुत्र श्रवण यादव सा0 चितारा महमूदपुर थाना दीदारगंज आजमगढ़ के बीच चल रहे अफेयर के कारण इन्ही दोनों के द्वारा घटित किए जाने का संदेह व्यक्त किया गया है। जिसके आधार पर मृतक की पत्नी रेखा देवी से गहनता और कड़ाई से पूछताछ के लिए उसके घर पहुंचा जो घर पर मौजूद मिली। 

यह भी पढ़ेंः यूपी में हत्याओं का सिलसिला, अब दो युवतियां का कत्ल, खड़े हुए कई सवाल

अमली और कड़ाई से पूछताछ पर जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि चितारा महमूदपुर का अंकित यादव पुत्र श्रवण यादव का करीब 02 वर्षो से मेरे घर आना–जाना था इसी मध्य हम दोनो एक दूसरे से प्रेम करने लगे थे और हम दोनों का शारीरिक सम्बन्ध भी होता था। मेरे पति रमेश कुमार राजभर को इस बात की शंका हो गयी थी जिसको लेकर अक्सर वह मेरे साथ दुर्व्यवहार और मार-पीट करने लगे थे। यह बात मुझे बहुत खराब लगी थी तो मैनें अंकित यादव से बतायी जिस पर अंकित यादव ने मुझसे कहा कि यदि तुम साथ दो तो तुम्हारे पति रमेश कुमार को रास्ते से हटा दिया जाय और कुछ दिनों बाद मैं तुमसे शादी कर लूंगा।

इसी लालच में आकर मैने और अंकित यादव ने मिलकर दिनांक 16/17.5.2020 की रात में करीब 12 बजे गडासी (बांकी) से गला काटकर रमेश कुमार की हत्या कर दी थी और लाश को अपनी साड़ी के खोल में भरकर गद्दे में लपेटकर गठरी बनाकर प्लास्टिक की सफेद बोरी में भरकर सायकिल पर लादकर मैं व अंकित यादव उपरोक्त निकासीपुर सोसायटी के पास नहर में डाल दिया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कीवर्ड :







संबंधित समाचार