संजीव बालियान का बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान का आरोप, चुनाव आयोग ने दी यह प्रतिक्रिया

डीएन ब्यूरो

केंद्रीय मंत्री और मुजफ्फरनगर से बीजेपी के उम्मीदवार संजीव बालियान ने फर्जी मतदान का आरोप लगाया था। साथ ही कहा था कि अगर इसको गंभीरता से नहीं लिया गया तो मैं दोबारा मतदान की मांग करूंगा। 2014 में पहली बार सांसद बने संजीव बालियान के सामने अजीत सिंह मैदान में हैं।

केंद्रीय मंत्री और मुजफ्फरनगर से बीजेपी के उम्मीदवार संजीव बालियान
केंद्रीय मंत्री और मुजफ्फरनगर से बीजेपी के उम्मीदवार संजीव बालियान

मुजफ्फरनगर: प्रथम चरण का मतदान शुरू होने के साथ ही विवाद भी शुरू हो गए हैं। मुजफ्फरनगर सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार संजीव बालियान ने आरोप लगाया है कि बूथों पर बुर्के की आड़ में फर्जी वोटिंग हो रही है। बालियान के इस आरोप पर चुनाव आयोग ने उन्‍हें फटकार लगाई है। इस मामले में मतदान स्‍थल पर वोट डालने पहुंची तबस्‍सुम हसन ने कहा मुस्लिम महिलाओं को बुर्का हटाकर वोट देने के लिए कहने का कोई अधिकार नहीं है।
 

गुरुवार को मतादान शुरू होने के कुछ देर बाद ही मुजफ्फरनगर सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार संजीव बालियान ने आरोप लगाया था कि मुस्लिम महिलाएं बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान कर रही हैं। जिसकी शिकायत उन्‍होंने चुनाव आयोग से भी की थी।

चुनाव आयोग ने बताया निराधार

उत्‍तर प्रदेश के चीफ इलेक्‍शन ऑफिसर ने बालियान के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारी से इस मामले की जानकारी ली गई है। किसी को भी बिना पहचान कराए बिना वोट डालने नहीं दिया जा रहा है। साथ ही बालियान के निराधार बयानों पर फटकार भी लगाई है।

बुर्का हटाकर वोट देने के लिए कहने का कोई अधिकार नहीं

वहीं इस दौरान लोकसभा चुनाव में कैराना सीट से सांसद तबस्सुम हसन भी वोट डालने पहुंचीं। हसन ने संजीव बालियान के बयान पर कहा कि वह हमेशा से ही बदतमीज रहे हैं। उन्हें मुस्लिम महिलाओं को बुर्का हटाकर वोट देने के लिए कहने का कोई अधिकार नहीं है। बुर्का हमारी संस्कृति का हिस्सा है और संदेहात्‍मक स्थिति में सभी का मतदाता पहचान पत्र को जांचा जाता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …