गुगल कर रहा है स्थानीय भाषाओं में ज्यादा से ज्यादा जानकारी उपलब्ध कराने की कोशिश: राहुल कपूर

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

गुगल इंडिया के हेड ऑफ़ लार्ज पार्टनर साल्यूशंस राहुल कपूर ने डाइनामाइट न्यूज़ के साथ विशेष बातचीत में कहा कि भारत में डिजिटल मीडिया का भविष्य काफी सुनहरा है। लोग स्थानीय भाषाओं में ज्यादा से ज्यादा निष्पक्ष सूचनाएं चाहते हैं और इस दिशा में गुगल लगातार काम कर रहा है।


नई दिल्ली: राजधानी में आयोजित 15 वीं एशिया मीडिया समिट में गूगल इंडिया के हेड ऑफ़ लार्ज पार्टनर साल्यूशंस राहुल कपूर से डाइनामाइट न्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ  मनोज टिबड़ेवाल आकाश ने विशेष बातचीत की। खास बातें:

प्रश्न: एशिया मीडिया समिट की इस कॉन्फ्रेस का उद्देश्य क्या है? 
उत्तर:  ये कॉन्फ्रेंस हर साल होती है। सौभाग्य की बात ये है कि ये इस बार ये दिल्ली में हो रही है। इस दौरान मैंने यहाँ पर न्यू मीडिया इनिशिएटिव पर बात की। इसके अलावा डिजिटल मीडिया के बिजनेस को लेकर बात की।  

प्रश्न: ऑनलाइन मीडिया आज एक बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है। गूगल सर्च इंजन पर भारत में काफी भरोसा किया जाता है। इस भरोसे को आगे भी लोगों में बनाये रखने के लिए गुगल इंडिया का आगे क्या प्रयास होगा?  
उत्तर: गुगल अपने यूजर्स की पसंद को ध्यान में रखकर आगे का प्लान करता है। हम अंग्रेजी से बाहर निकलकर हिंदी व अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में लोगों को जानकारियां उपलब्ध करा रहे हैं। कोई भी यूजर्स अब हिंदी में जानकारी पा सकता है। न सिर्फ हिंदी बल्कि क्षेत्रीय भाषाओं में भी आप सर्च करके गुगल पर कोई भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। सबसे मजेदार बात यह है कि लोगों को जानकारियां चाहिये.. भले वह पढ़ा-लिखा या न हो। ऐसे में गुगल ने वॉयस सर्च की भी व्यवस्था की है। अब यूजर्स अपनी भाषा में भी सीधे बोल कर कुछ भी गुगल सर्च कर सकते हैं। हमारा लक्ष्य है कि हम लोगों को ज्यादा से ज्यादा जानकारी आसानी से पहुंचा सकें.. यही भारत का भविष्य भी है।

प्रश्न: अगर मीडिया के फार्मेट की बात करें तो पहले सिर्फ प्रिंट मीडिया था फिर इलेक्ट्रानिक मीडिया का ज़माना आया और अब डिजिटल मीडिया ने काफी तेजी से पांव पसारा है। आने वाले समय में डिजिटल मीडिया के प्वाइंट ऑफ़ व्यू से आने वाले समय में हम गूगल पर क्या नया देख सकते है ?
उत्तर: हम पिछले कुछ समय से लगातार नया कर रहे हैं लेकिन भारत में हमारा मेन फोकस ज्यादा से ज्यादा स्थानीय भाषाओं पर काम करने का है। इस समय यू-ट्यूब काफी लोकप्रिय है। ऐसे में हमारी कोशिश है कि यू-ट्यूब पर भी स्थानीय भाषा में ज्यादा से ज्यादा सामग्री उपलब्ध हो।  इस समय हमारा लक्ष्य लोगो को क्षेत्रीय भाषा से जोड़ना है। हमारी कोशिश यह भी है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इंटरनेट की पहुंच हो। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार