पीएम मोदी बोले- देश की अर्थव्यस्था की रफ्तार को हम फिर वापस पाएंगे

डीएन ब्यूरो

देश में जारी कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय अर्थव्यस्था फिर वापस तेज रफ्तार पटरी पर लौट आयेगी। पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत को सफल बनाने के मंत्र भी दिये। पढिये, और क्या बोले पीएम मोदी..

सीआईआई के 125वें सालाना समारोह में पीएम मोदी
सीआईआई के 125वें सालाना समारोह में पीएम मोदी

नई दिल्ली: देश में जारी कोरोना संकट के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सालाना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश में आर्थिक मोर्चे पर कई तरह की चुनौतियां हैं, लेकिन सरकार द्वारा किये गये रिफॉर्म से देश एक बार तेज गति से दौड़ सकता है। सरकार आज ऐसे पॉलिसीज रिफॉर्म कर रही है, जिनकी देश ने उम्मीद भी छोड़ दी थी। पीएम ने कहा कि हम अपनी अर्थव्यवस्था की फिर तेज रफ्तार पर वापस पाएंगे। 

मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के इस संकट में आज ऑनलाइन इवेंट शायद एक न्यू नॉर्मल है, लेकिन ये हमारी सबसे बड़ी ताकत है। आज भी हमें इस वायरस से लड़ना है, तो दूसरी ओर अर्थव्यवस्था का भी ध्यान रखना है। उन्होने कहा कि केंद्र सरकार ने अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरुआत की है, जिससे देश की अर्थव्यस्था को फिर से तेज गति मिल सकेगी। 

पीएम मोदी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को फिर से मजबूत करना सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है,  इसके लिए कई तरह के फैसले लिये जा रहे हैं। सरकार ने इस स्थिति से निकलने के लिए त्वरित फैसलों के अलावा लंबे वक्त में फायदे करने वाले फैसले भी लिए हैं। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया,  प्रवासी श्रमिकों के लिए मुफ्त राशन दिया जा रहा है। अबतक गरीब परिवारों को 53 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में दी जा चुकी है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार प्राइवेट सेक्टर को देश की विकास यात्रा में अपना पार्टनर मानती है। आत्मनिर्भर भारत अभियान से जुड़ी निजि सैक्टर की हर आवश्यकता का ध्यान रखा जाएगा। आपसे, सभी स्टेकहोल्डर्स से मैं लगातार संवाद करता हूं और ये सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यस्था और किसानों के साथ निवेश के लिये निजी सैक्टर की भागीदारी के लिये सभी रास्ते खुले हुए हैं, जिसका निवेशकों द्वारा लाभ उठाया जाना चाहिये। अब तो गांव के पास ही लोकल एग्रो प्रोडक्ट्स के क्लस्टर्स के लिए ज़रूरी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इसमें सीआईआई से जुड़े विभिन्न कंपनियों और लोगों के लिये कई तरह के अवसर मौजूद है। 
 








संबंधित समाचार