यूपी में कई आईपीएस के तबादले, प्रतापगढ़ और जालौन में नये एसपी की तैनाती

जय प्रकाश पाठक

अवैध वसूली के घिरे एक मामले में बाराबंकी एसपी के पद से निलंबित हुए आईपीएस डा.सतीश कुमार को तीन महीने के भीतर फिर से कप्तानी मिल गयी है। उन्हें जालौन का नया एसपी बनाया गया है। इसके अलावा प्रतापगढ़ में भी नये एसपी की तैनाती हुई है। पूरी खबर..

आईपीएस डा. सतीश कुमार

लखनऊ: यूपी में कल से अब तक चार आईपीएस के तबादले की दो सूची निकाली गयी है। इसमें दो जिलों में नये एसपी की तैनाती की गयी है।

पूरी लिस्ट: 

इस सूची की सबसे खास बात यह है कि भ्रष्टाचार के आरोप में अप्रैल के पहले सप्ताह में बाराबंकी एसपी के पद से निलंबित हुए आईपीएस डा.सतीश कुमार को तीन महीने के भीतर फिर से कप्तानी दे दी गयी है। उन्हें जालौन का नया एसपी बनाया गया है।

इसका मतलब ये है कि आनन-फानन में उन पर लगे आरोपों की जांच करा उन्हें क्लिनचिट दी गयी है। निलंबन के कुछ दिनों बाद ही उन्हें बहाल किया गया और एसपी साइबर क्राइम की पोस्टिंग दी गयी। 

इसके अलावा प्रतापगढ़ में एसएसपी एसटीएफ के पद पर कार्यरत रहे अभिषेक सिंह को भेजा गया है। 

ये है बाराबंकी रिश्वत कांड

बाराबंकी साइबर क्राइम सेल के इंचार्ज अनूप यादव ने विश्वास ट्रेडिंग कंपनी से जुड़े लोगों से 65 लाख रुपये वसूल लिये थे। विभागीय जांच शुरू होते ही अनूप ने दो किश्तों में रकम लौटा दी थी। रकम वापसी के दौरान अनूप ने गवाहों की मौजूदगी में उनसे रसीदों पर हस्ताक्षर लिए थे। इस प्रकरण में दरोगा अनूप यादव और एक सिपाही की भूमिका के अलावा एसपी डॉ. सतीश कुमार की भूमिका पर सवाल खड़े हुए। डीजीपी मुख्यालय के अफसरों का कहना था कि जांच में एसपी का पर्यवेक्षण कमजोर पाया। इस आधार पर ही उनके निलम्बन की संस्तुति की गई थी और अब तीन महीने में उन्हें नया जिला भी सौंप दिया गया है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार