महाराष्ट्र में किसानों की हड़ताल खत्म, सीएम फडणवीस ने किया कर्ज माफी का वादा

डीएन संवाददाता

महाराष्ट्र में दो दिनों से जारी किसानों का आंदोलन शनिवार को खत्म हो गया। सीएम देवेंद्र फडणवीस के साथ लंबी बैठक के बाद किसानों ने हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया। मुख्यमंत्री ने किसानों से जल्द ही कर्ज माफी का वादा किया है।

किसानों की हड़ताल खत्म
किसानों की हड़ताल खत्म

मुंबई: महाराष्ट्र में कर्ज माफी समेत कई मुद्दों को लेकर 2 दिनों से जारी किसानों की हड़ताल शनिवार को सुबह खत्म हो गई। किसान नेताओं ने यह फैसला सीएम देवेंद्र फडणवीस के साथ हुई बैठक के बाद लिया। हड़ताल के दौरान 4.5 लाख लीटर दूध, फल और सब्जियों का नुकसान हुआ। किसानों के हड़ताल पर रहने से राज्य में नागरिकों को कृषि से जुड़े जरूरी सामान न मिल पाने की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था।

देवेंद्र फडणवीस, सीएम, महाराष्ट्र

सीएम फड़णवीस के बुलाने पर आंदोलन कर रहे किसान क्रांति समिति के नेता मुंबई पहुंचे। सीएम के बंगले में किसानों के साथ बैठक शुरू हुई। इस दौरान किसानों से जुड़े कई मुद्दों पर सरकार ने अपना पक्ष रखा।

सीएम ने कहा कि राज्य में कुल 31 लाख किसान हैं और इतनी जल्दी सबके कर्ज को माफ करना आसान नहीं है। उन्हें फिर से कर्ज देने के लिए जल्द ही एक कमेटी बनाई जाएगी। इसमें किसानों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इस कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद 31 अक्टूबर तक कर्ज माफी पर बड़ा फैसला लिया जा सकता है।

हड़ताल के दौरान हुआ नुकसान

बैठक में ये रही अहम बातें

1. आंदोलन कर रहे किसानों पर दर्ज केस वापस होंगे। लेकिन एंटी सोशल एलिमेंट्स पर कड़ी कार्रवाई होगी।

2. किसानों को उनकी फसलों का सही मूल्य देने के लिए जून के आखिर तक राज्य में कृषि मूल्य आयोग बनाया जाएगा।

3. किसानों को उनकी फसलों का कम दाम देने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एक विधेयक विधानसभा के मानसून सत्र में पेश किया जाएगा।

4. दूध का दाम तय करने के लिए राज्य में रेग्युलेटर अप्वाइंट किया जाएगा। दूध बाजार में किसानों की अधिकतम हिस्सेदारी की कोशिश होगी।

5. खेती में इस्तेमाल बिजली का बिल भी माफ किया जाएगा। मंडियों में फ्रूट को रखने के लिए फ्रूट स्टोरेज सेंटर्स और चिलिंग सेंटर भी बनाए जाएंगे।

6. महाराष्ट्र में सुसाइड कर चुके किसानों की फैमिली को सरकार आर्थिक मदद देगी।

क्यों की गई हड़ताल

मंगलवार रात किसान क्रांति जन आंदोलन कोर कमिटी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बीच सरकारी आवास पर बातचीत हुई थी। बैठक में किसानों ने मुख्यमंत्री से पूर्ण कर्जमाफी की मांग की, जिसपर मुख्यमंत्री ने एक महीने का वक्त मांगा। दो घंटे की बैठक में मुख्यमंत्री ने अपनी उपलब्धियां किसानों को गिनाई। किसानों का कहना था, 'सरकार ने किसानों के लिए क्या-क्या किया है और अगले दो साल में सरकार क्या करने वाली है, बताया गया, लेकिन हमें कर्ज माफी की मांग पर कोई ठोस आश्वासन नहीं दे सके। इस वजह से हम लोग बैठक को बीच में छोड़कर बाहर चले आए। ऐसे में हमने तय किया कि हम हड़ताल पर जाएंगे।'

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …