महराजगंज: नाले की सफाई में लाखों का घोटाला, इंजीनियर समेत 7 के खिलाफ FIR

डीएन संवाददाता

फर्जी तरीके से लाखों रुपयों का भुगतान करने के खिलाफ अदालत के निर्देश पर अधिशासी अभियन्ता समेत कुल 7 लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गयी है।

कार्यालय अधिवासी अभियंता
कार्यालय अधिवासी अभियंता

महराजगंज: मिठौरा ब्लॉक के बेलभरिया गांव में नाले की सफाई के लिए सरकार से आये लाखों रुपये भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गये। बिना काम कराये ही फर्जी तरीके से लाखों रुपयों का भुगतान करने के खिलाफ अदालत के निर्देश पर अधिशासी अभियन्ता समेत कुल 7 लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गयी है। 

शिकायतकर्ता की आरोपों के बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट महराजगंज के महराजगंज के पूर्व सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियन्ता वीरेंद्र कुमार समेत कुल 7 लोगों के खिलाफ धारा 156 (3) तहत चौक थाने में एफआईआर दर्ज की गयी है। घोटाले में शामिल अधिशासी अभियन्ता वीरेंद्र कुमार किसी और मामले में फ़िलहाल सडपेंड चल रहे है।

शिकायतकर्ता का आरोप है कि मिठौरा ब्लॉक के भेलभरिया गांव के नाले की सफाई के लिए 20 लाख 29 हजार रुपये आये थे, जिसमें 11 लाख़ 96 हजार रुपये का भुगतान फर्जी तरीके से किया गया। घोटाले के आरोपी 7 लोगों में अजय कुमार श्रीवास्तव जू0ई0सिचाई खण्ड द्वितीय, रमाकान्त पांडेय जूनियर इंजिनियर, संजय मिश्रा, विवेकानन्द मिश्रा, ब्लॉक मनरेगा अधिकारी, रेनू सिंह ग्राम सेवक नंदाभार और रोजगार सेवक धर्मपुर शामिल है। 
इस प्रकरण में एसओ चौक का कहना है कि चौक थाने ने इन 7 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गयी है और विवेचना भी चल रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …