एक व्यक्ति ने सात माह की बच्ची की बलि दी

डीएन संवाददाता

झारखंड के सरायकेला-खार्सवन जिले में एक व्यक्ति ने भगवान को खुश करने के लिये तांत्रिक की मदद से सात माह की एक बच्ची की बलि दे दी, ताकि उसे और उसकी पत्नी को संतान प्राप्ति हो सके।

स्रोत इंटरनेट
स्रोत इंटरनेट

जमशेदपुर: झारखंड के सरायकेला-खार्सवन जिले में एक व्यक्ति ने भगवान को खुश करने के लिये तांत्रिक की मदद से सात माह की एक बच्ची की बलि दे दी, ताकि उसे और उसकी पत्नी को संतान प्राप्ति हो सके।

उप-संभागीय पुलिस अधिकारी (चंदिल) संदीप भगत ने आज बताया कि भदोई कलिंदी और तांत्रिक, कर्मू कलिंदी को पुलिस ने कल तिरलडीह पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत चैदा गांव से गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि भदोई एक संपेरा है। उसकी शादी करीब आठ साल पहले हुयी थी, लेकिन उनकी कोई संतान नहीं है। उन्होंने बताया कि उसने भगवान को खुश करने के लिये बच्चे की बलि देने का निर्णय किया, ताकि उसे और उसकी पत्नी को संतान प्राप्ति हो सके।

भगत ने बताया, ‘‘26 मई की रात, भदोई और कर्मू ने एक बच्ची का सोते समय अपहरण कर लिया। वह कर्मू के पड़ोसी सुभाष गोपे की लड़की थी। इसके बाद उन्होंने तिरलडीह की एक नदी के करीब श्मशान घाट में उसकी कथित बलि दे दी।’’

उन्होंने बताया कि घटना के बाद से कर्मू गायब हो गया था जिससे पुलिस को बच्ची के अपहरण में उसके शामिल होने का संदेह हुआ। भगत ने बताया कि इसके बाद पुलिस ने उसे और भदोई को गिरफ्तार कर लिया। दोनों लोगों ने बृहस्पतिवार को अपना अपराध कबूल कर लिया।

पुलिस ने भदोई के घर से बलि में इस्तेमाल किये गये हथियार को जब्त कर लिया है। उन्होंने बताया कि बच्ची के शव की तलाश की जा रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार