यूपी में चार आईपीएस के तबादले, वाराणसी और मुरादाबाद के पुलिस कप्तान बदले

डीएन ब्यूरो

यूपी में चार आईपीएस के तबादले किये गये हैं। इसमें वाराणसी और मुरादाबाद के पुलिस कप्तान बदले गये हैं तो वहीं विकास दुबे कांड में दागी बनकर उभरे आईपीएस अनंत देव की एसटीएफ से छुट्टी कर दी गयी है। डाइनामाइट न्यूज़ विशेष:

तबादला आदेश
तबादला आदेश

लखनऊ: यूपी में चार आईपीएस के तबादले किये गये हैं। इसमें वाराणसी और मुरादाबाद के पुलिस कप्तान बदले गये हैं तो वहीं विकास दुबे कांड में दागी बनकर उभरे आईपीएस अनंत देव की एसटीएफ से छुट्टी कर दी गयी है। 

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक अनंत देव को मुरादाबाद पीएसी का डीआईजी बनाया गया है।

अमित पाठक को वाराणसी का नया एसएसपी बनाया गया है। प्रभाकर चौधरी तो मुरादाबाद का नया एसएसपी बनाया गया है।

सुधीर कुमार सिंह को एसटीएफ का नया एसएसपी बनाया गया है। 

अनंत की पूरी कुंडली

अनंत के बारे में खास बात ये है कि ये 2013 में प्रमोशन पाकर आईपीएस बने और तब से लेकर आज तक कभी जिले के चार्ज से नहीं हटे। सिद्दार्थनगर से लेकर, आजमगढ़, प्रतापगढ़, मुजफ्फरनगर, गोरखपुर, फैजाबाद, कानपुर के एसएसपी ये लगातार रहे। सात साल से लगातार ये आधा दर्जन से ज्यादा महत्वपूर्ण जिलों के एसएसपी रहे। चाहे सरकार सपा की रही हो या फिर भाजपा की हर जगह इन्होंने मलाई काटी।

सिर्फ एक बार गोरखपुर के एसएसपी रहने के दौरान इनके एक मातहत पुलिसवाले ने गोरखपुर जिले में एक पीड़ित की गुप्तांग में डंडा डाल दिया था, जिसकी जांच तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने करायी, जो जांच में सही मिलने पर अखिलेश ने इसे निलंबित कर दिया। 2006 बैच के प्रमोटेड आईपीएस अनंत के साथी बताते हैं कि इसके बाद इन्हें जुगाड़ से फैजाबाद जिले की कप्तानी मिली इसी बीच विधानसभा के चुनाव आये और अयोध्या के साधु-संतो को साध ये अपनी पैठ भाजपा में बना मुजफ्फरनगर के कप्तान बन गये।

इनको शहीद सीओ ने पत्र लिख विकास दुबे के बारे में बताया था लेकिन इन्होंने कोई कार्यवाही नहीं की। इधर विकास के सहयोगी जय बाजपेयी के साथ भी अनंत की फोटो वायरल हुई है।

विकास दुबे के खिलाफ कार्यवाही को लेकर कानपुर के वर्तमान एसएसपी दिनेश कुमार पी. और आईजी रेंज मोहित अग्रवाल की भी भूमिका संदिग्ध है। कल इन दोनों ने वायरल पत्र के मामले पर विरोधाभासी बयान दिया था, जिसकी खबर विस्तार से डाइनामाइट न्यूज़ पर प्रकाशित हुई थी। इन दोनों की जोड़ी अब तक विकास दुबे को पकड़ने में नाकाम है।

लखनऊ से अंदर की खबर ये है कि अनंत के बाद अगली गाज इन दोनों पर गिरने वाली है।  













संबंधित समाचार